तमिलनाडु की ये 10 बातें आप को हैरान कर देंगी

810

 

  1. तमिलनाडु, एक ऐसा राज्य जहा शास्त्रीयता, संस्कृति, रितिरिवाज़ और कला का संगम है। तमिलनाडु भारत के दक्षिणी भाग में स्थित सबसे बड़ा राज्य है।

दिल्ली में 34000 की सैलरी पाने के लिए इन असिस्टेंट टीचर / जूनियर इंजिनियर 982 पदों पर करें आवेदन – देखें पूरी डिटेल अंतिम तिथि: 15 अक्टूबर 2019

HARYANA में HSSC ने निकाली पटवारी पदों पर नौकरियां – सैलरी 20000/- से ऊपर अंतिम तिथि: 16 सितम्बर 2019

loading...

8TH और 10TH पास लोगों के लिए बिहार के इस डिपार्टमेंट ने निकाली है बम्बर वेकेंसी

  1. विश्व का प्रथम ग्रेनाइट मंदिर तमिलनाडु के तंजौर में बृहदेश्वर मंदिर है। जो सिर्फ एक 80 टन के ग्रेनाइट के टुकड़े से बनाया गया था।

  1. तमिलनाडु सभी भारतीय राज्यों में मानव विकास सूचकांक के मामले में छठे स्थान पर है।

  2. भरतनाट्यम एक शास्त्रीय नृत्य है जो तमिलनाडु में उद्भवित है। भरतनाट्यम भरतमुनि द्वारा सोचा गया नृत्य है और प्राचीन समय में यह देवदासियों द्वारा हिंदू मंदिरों में प्रदर्शन किया जाता था।

  1. आपको जानकर हैरानी होगी कि चेन्नई में 20 लाख से अधिक वाहनों के होने के बावजूद भी भारत के प्रमुख शहरों में सबसे कम प्रदूषण वाला शहर है।

  2. 11वी शताब्दी के अंत में तमिलनाडु पर चालुक्य ,चोल ,पांड्य जैसे अनेक राजवंशो का शासन रहा। इसके बाद के 200 वर्षो तक दक्षिण भारत में चोल साम्राज्य का अधिपत्य रहा।

 

  1. तमिलनाडु की मुख्य नदियाँ कावेरी , पोंनैयार , पलार , वैगई और ताम्ब्रपर्णी आदि है। ये सभी नदियाँ अंतस्थर्लीय पहाडियों से पूर्व की ओर बहती है।

  2. तमिलनाडु की अधिकतर जनसंख्या प्राचीन द्रविड़ जाति के वंशज है | ज्यादातर पर्वतीय जनजातियों दक्षिण-पूर्व एशियाई लोगो से साम्यता प्रदर्शित करती है।

 

  1. तमिलनाडू भारत के सबसे ज्यादा शहरीकृत राज्यों में से एक होने के बावजूद भी यहाँ की ज्यादातर जनसंख्या ग्रामीण ही है। जनसंख्या का अधिकाँश हिस्सा 64 हजार से ज्यादा केंद्रीकृत गाँवों में रहता है।

  2. यद्यपि इस राज्य में हिन्दू ,इस्लाम , इसाई और जैन धर्म के मानने वाले व्यक्ति निवास करते है फिर भी यहाँ हिन्दू धर्म और संस्कृति कज प्रधानता है।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.