भारतीय सेना का नया कीर्तिमान, लद्दाख में 16,000 फीट पर कर दिया ये काम

0 440

नई दिल्ली: पिछले छह महीनों में एल.ए. ए  पर विवाद जारी है। जिसके कारण ठंड के मौसम में भी ऊंचाई वाले इलाकों में बड़ी संख्या में जवानों को तैनात किया गया है। मैदानी इलाकों में अभी भी कम ठंड है लेकिन उच्च हिमालयी क्षेत्र में बर्फबारी शुरू हो गई है, जिससे पारा शून्य के करीब पहुंच गया है। इस बीच, भारतीय सेना के डॉक्टरों ने लद्दाख में 16,000 फीट की ऊंचाई पर एक नया रिकॉर्ड बनाया है।

खराब मौसम के कारण हेलीकॉप्टर नहीं पहुंचा।

दरअसल, लद्दाख के ऊंचाई वाले इलाकों में तैनात एक जवान को अपेंडिक्स की समस्या थी। उन्हें 28 अक्टूबर को हेलीकॉप्टर द्वारा एयरलिफ्ट किया जा रहा था लेकिन खराब मौसम के कारण खाली नहीं किया जा सका। कुछ घंटों की कड़ी मेहनत के बाद, सेना की सर्जिकल टीम ने उस पर एक सफल ऑपरेशन किया। इसमें एक लेफ्टिनेंट कर्नल, एक प्रमुख और एक कप्तान (सभी डॉक्टर) शामिल थे। युवक की हालत अब स्थिर बताई जा रही है। लद्दाख जैसे इलाकों में खराब परिस्थितियों में चलाए गए इस ऑपरेशन को सेना के डॉक्टरों ने बड़ी सफलता माना है।

फॉरवर्ड सर्जिकल सेंटर

में ऑपरेशन के सूत्रों के मुताबिक , जिस जगह ऑपरेशन हुआ , वह समुद्र तल से 16,000 फीट ऊपर है। इसके अलावा, वहां का तापमान इन दिनों 0 के करीब है। ऐसे में, आगे के सर्जिकल सेंटर में बड़ी आपातकालीन सर्जरी करना सेना के डॉक्टरों के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। यह फॉरवर्ड एरिया में सबसे बड़े ऑपरेशनों में से एक है। हाल ही में, सेना प्रमुख जनरल एम.म. नरवाना ने कई फॉरवर्ड क्षेत्रों का दौरा किया था। इसी समय, यह सुनिश्चित किया गया था कि सभी आवश्यक उपकरण और आपूर्ति वहाँ के जवानों के लिए उपलब्ध होंगी।

आवश्यक शीतकालीन वस्तुओं की खरीद

इस बार ठंड के मौसम में भी चीन की सीमा पर बड़ी संख्या में सैनिकों को तैनात करना होगा। जिसके लिए भारतीय सेना ने आवश्यक उपकरणों की खरीद की है। एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत ने संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ 2016 लॉजिस्टिक्स एक्सचेंज मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग पर हस्ताक्षर किए थे। जिसके तहत दोनों देशों के युद्धपोत और जहाज एक दूसरे के ठिकानों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा स्पेयर पार्ट्स, लॉजिस्टिक सपोर्ट, सप्लाई और भी कई चीजें शामिल हैं। समझौते के तहत, भारत ने अब संयुक्त राज्य अमेरिका से उच्च ऊंचाई वाले युद्ध किट खरीदे हैं। इनमें टेंट, कपड़े और युद्ध किट शामिल हैं, जो शून्य से 50 डिग्री सेल्सियस तक तापमान का सामना करते हैं, जो सर्दियों के दौरान लद्दाख में जवानों के लिए उपयोग किया जाएगा।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply