अमीर घर की लड़कियों को तुड़वाने होते थे अपने पैर, देश का नाम और वजह आपको कर देगी हैरान

99

रोचक बातें :– हमारे समाज में कई अनोखी प्रथाएं हैं जिनको जानकर हैरानी होती है लेकिन क्या आपको पता है कि एक देश में ऐसी प्रथा चला करती है जिनमें अमीर घर की लड़कियों को अपने पैर तोड़ने होते थे। इस प्रक्रिया की शुरुआत बहुत छोटी उम्र से हो जाती थी जो बड़ी दर्दनाक प्रक्रिया होती थी। आइए जानें ये देश कौन सा था और ऐसी परंपरा क्यों हुआ करती थी।

Foot Binding China

इस देश में हुआ करती थी ये प्रथा

जिस अजीबो गरीब प्रथा की बात हम कर रहे हैं वो चीन में हुआ करती थी। ये प्रथा आज से एक हजार साल पहले वहां हुआ करती थी। उस जमाने में ये एक फैशन बन गया था जिसको फुट बाइंडिंग कहते थे। फुट-बाइंडिंग की प्रथा सम्राट ली यू के शासनकाल में 970 ई के दौरान शुरू हुई। इस दौरान सम्राट की पत्नी ने अपने अंगूठे के बल पर कमल में नृत्य किया था।

Foot Binding China

धीरे-धीरे बन गया फैशन

याओ-नियांग रानी के नृत्य की नकल करने के लिए राजा की बाकी पत्नियों ने भी वैसा ही करना शुरू किया। उन्होंने अपने पैर कपड़ों से बांधकर घुमावदार और नुकीले करने शुरू कर दिए जो धीरे-धीरे फैशन बन गया और पूरे देश में फैल गया। बाद में इस फैशन के लिए अमीर घर की लड़कियों के पैर तक तोड़े जाने लगे।

Foot Binding China

जबकि गरीब लड़कियों को खेतों में काम करने की वजह से इस प्रथा से दूर रखा गया था। अमीर घर की लड़कियों की मजबूरी भी थी क्योंकि अगर उनके पैर ऐसा न होते तो उनकी शादी भी नहीं होती थी।

यह है वो 4 भारतीय खिलाडी जिनका 2019 विश्व कप में खेलना पक्का | Top 4 batsman play in world cup 2019


4 आसान से सवालों के जवाब देकर जीतें 400 रु– यहां क्लिक करें

जिओ BIG Sale  :- 

Jio 2 Smartphone  मोबाइल को 499 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे
JIO Mini SmartWatch को 199 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे
JioFi M2 को 349 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Jio Fitness Tracker को 99 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.