कोरोना टेस्ट की संख्या में कमी ने बढ़ाई स्वास्थ्य मंत्रालय की चिंताएं

41

स्वास्थ्य सचिव ने नागालैंड सहित 13 राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों को लिखा पत्र, कहा टेस्ट की संख्या में कमी न की जाए

नई दिल्ली, 24 नवंबर एक तरफ जहां देश में कोरोना के नए मामलों में कमी दर्ज की जा रही है वहीं, कई राज्यों में टेस्ट की संख्या में भी कमी आई है। इससे केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की चिंताएं बढ़ गई हैं।

loading...

 The decrease in the number of corona tests raised the concerns of the Ministry of Health

मामले की गंभीरता को देखते हुए बुधवार को केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने नागालैंड सहित 11 राज्यों और 2 केन्द्र शासित प्रदेशों के प्रमुख सचिव को पत्र लिखा है। इन राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में नागालैंड, सिक्किम, महाराष्ट्र, केरल, गोवा, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, जम्मू व कश्मीर, पंजाब, राजस्थान, पश्चिम बंगाल और लद्दाख शामिल हैं।

राजेश भूषण ने नागालैंड को लिखे पत्र में कहा है कि यहां रोजाना लगभग 342 टेस्ट किए जा रहे हैं जबकि राष्ट्रीय औसत 1250 टेस्ट किए गए। यह टेस्ट काफी कम है। टेस्ट के ये आंकड़े अगस्त महीने से चले आ रहे हैं। जबकि यहां संक्रमण दर 1.5 प्रतिशत बना हुआ है। टेस्ट की संख्या पिछले एक महीने से जस का तस है। संक्रमण दर अधिक होने के बाद भी टेस्ट की संख्या को नहीं बढ़ाना चिंता का विषय हो सकता है। इसी तरह सभी राज्यों को टेस्ट की संख्या पर ध्यान दिलाया गया है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.