पेट्रोल-डीजल की कीमत को लेकर केंद्र सरकार ने लिया बड़ा फैसला! रेट घटेगा या बढ़ेगा?

129

Petrol diesel price : देश में ईंधन की कीमतें आसमान छू गई हैं। ऐसे में आम लोगों का सिरदर्द बढ़ गया है। लेकिन सरकार ने देश में तेल की बढ़ती कीमतों पर काबू पाने के लिए एक और कदम उठाया है.

केंद्र सरकार ने गुरुवार को डीजल एक्सपोर्ट पर विंडफॉल प्रॉफिट टैक्स को बढ़ाकर 7 रुपये प्रति लीटर कर दिया है। साथ ही 2 रुपये प्रति लीटर एविएशन फ्यूल (ATF) टैक्स फिर से लगाया गया है। हालांकि, सरकार ने घरेलू स्तर पर उत्पादित कच्चे तेल पर टैक्स कम कर दिया है।

डीजल पर निर्यात कर 2 रुपये बढ़ा

विंडफॉल टैक्स की तीसरे पखवाड़े की समीक्षा में सरकार ने डीजल निर्यात पर टैक्स 5 रुपये से बढ़ाकर 7 रुपये प्रति लीटर कर दिया है। एटीएफ पर एक बार फिर से 2 रुपये प्रति लीटर की दर से कर लगाया गया है।

पिछले महीने, सरकार ने एटीएफ निर्यात पर अप्रत्याशित लाभ कर (लेवी) को समाप्त कर दिया। इसके अलावा, घरेलू स्तर पर उत्पादित कच्चे तेल पर कर 17,000 रुपये प्रति टन से बढ़ाकर 13,000 रुपये प्रति टन कर दिया गया है।

कच्चे तेल की कीमतें 6 महीने के निचले स्तर पर

दरअसल, सरकार ने यह फैसला कच्चे तेल की रिफाइनिंग से बढ़े मुनाफे को देखते हुए लिया है। हालांकि, पिछले छह महीनों में अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतों में गिरावट के कारण घरेलू स्तर पर उत्पादित तेल पर टैक्स कम किया गया था। वहीं, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें छह महीने के निचले स्तर पर हैं.

हालांकि शुक्रवार सुबह कीमतों में थोड़ी तेजी आई और डब्ल्यूटीआई क्रूड की कीमत 90.74 डॉलर प्रति बैरल पर देखी गई। वहीं, ब्रेंट क्रूड का भाव 96.77 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. घरेलू बाजार में आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी आ सकती है।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.