अब स्मार्टफोन और लैपटॉप फिर हो जाएंगे महंगे, ये रही उसकी मुख्य वजह

196

मुंबई: भारत में स्मार्टफोन, टैबलेट और लैपटॉप की डिलीवरी और उपलब्धता पर अगले कुछ दिनों में असर पड़ सकता है. अमेरिकी, चीनी और कोरियाई कंपनियों द्वारा चीन में बने उपकरणों के आयात के लिए सरकार के पास छह महीने से अधिक समय से 80 आवेदन लंबित हैं। उद्योग जगत के सूत्रों के मुताबिक इस तरह के कलपुर्जों के आयात के लिए आवेदन पिछले साल नवंबर से लंबित हैं।

स्मार्टफोन और लैपटॉप बनाने वाली कंपनियां चीन से सामान आयात करती हैं, जिनमें वाईफाई मॉड्यूल, ब्लूटूथ स्पीकर, वायरलेस ईयरफोन आदि शामिल हैं। स्मार्टफोन, स्मार्ट घड़ियों और लैपटॉप के निर्माण में वाई-फाई मॉड्यूल का उपयोग किया जाता है, जिन पर जानबूझकर आयात अनुमोदन में देरी करने का आरोप लगाया गया है। इसलिए चीनी स्मार्टफोन निर्माता Xiaomi, Oppo, Vivo और Lenovo, अमेरिकी कंप्यूटर निर्माता Dell और HP के साथ मिलकर अपने नए उत्पाद को लॉन्च करने पर जोर दे रहे हैं।

loading...

भारत सरकार ने नहीं दी मंजूरी

आरोप है कि भारत सरकार के दूरसंचार मंत्रालय की वायरलेस प्लानिंग एंड कोऑर्डिनेशन विंग (डब्ल्यूपीसी) नवंबर से आवेदन को मंजूरी नहीं दे रही है। घटना से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी है। वे इस तरह के एक आवेदन को मंजूरी दिलाने के लिए पैरवी कर रहे हैं। कई भारतीय कंपनियां भी चीन से ऐसे घटकों का आयात करती हैं और उनके आवेदन लंबित हैं। डेल, एचपी, श्याओमी, ओप्पो और वीवो, साथ ही लेनोवो ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.