अफगानिस्तान में कड़ाके की ठंड, 157 लोगों और 77 हजार जानवरों की मौत

0 21

अफगानिस्तान में 15 दिन के भीतर भीषण ठंड से 157 लोगों की मौत हो चुकी है और 77 हजार जानवर भी मारे गए हैं. यहां का तापमान माइनस 28 डिग्री तक पहुंच गया है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार (UNOCHA) के अनुसार, देश के 2 करोड़ 83 लाख लोगों यानी लगभग दो-तिहाई आबादी को जीवित रहने के लिए तत्काल मदद की आवश्यकता है।

आपदा प्रबंधन मंत्री मुल्ला मोहम्मद अब्बास अखुंद के मुताबिक, ज्यादातर मौतें ग्रामीण इलाकों में हुई हैं. मुल्ला मुहम्मद अब्बास अखुंद का कहना है कि गांवों में स्वास्थ्य सुविधाएं कम हैं, जिससे मौतें ज्यादा हो रही हैं. भारी बर्फबारी के कारण अफगानिस्तान-पाकिस्तान हाईवे को बंद कर दिया गया है. इस वजह से जरूरी सामान अफगानिस्तान नहीं पहुंच पा रहा है।

 इस संबंध में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार (UNOCHA) ने कहा कि उन्होंने जनवरी में अफगानिस्तान में 5 लाख 65 हजार 700 लोगों को कंबल, आश्रय और अन्य मानवीय सहायता प्रदान की है, ताकि जरूरतमंद लोगों को मदद मिल सके. 10 जनवरी से 19 जनवरी तक ठंड से 78 मौतें हो चुकी हैं। पिछले एक हफ्ते में यह आंकड़ा दोगुना हो गया है।
 मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अफगानिस्तान में पिछले 15 सालों में इतनी ठंड नहीं पड़ी है. यहां बर्फीले तूफान से स्थिति गंभीर हो गई है। देश के 34 में से 8 राज्यों में स्थिति गंभीर है. ठंड से मरने वालों की संख्या इन 8 राज्यों में सबसे ज्यादा है।

तालिबान के सत्ता में आते ही अफगानिस्तान में आर्थिक और मानवाधिकारों का संकट बढ़ता जा रहा है। हाल ही में महिलाओं को एनजीओ में काम करने से रोक दिया गया है। इससे मौसम की मार झेल रहे लोगों को आने-जाने में भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply