Salary increment formula: 8 साल में सैलरी डबल नहीं हुई तो सोचना शुरू करें, ये विकल्प अपनाएं

0 139

Salary increment formula: हर साल अप्रैल में सैलरी बढ़ती है और हो सकता है आपकी सैलरी भी बढ़ गई हो, लेकिन क्या आप जानते हैं कि कोरोना महामारी के दौरान पूरी दुनिया में महंगाई ने कहर बरपाया था और इस वजह से लोगों की बचत प्रभावित हुई थी. एक कंपनी में काम करने वाला व्यक्ति सोचता है कि मेरा वेतन तेजी से क्यों नहीं बढ़ रहा है। ऐसी स्थिति में आपको क्या करना चाहिए? महंगाई दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है और अगर आपकी सैलरी उसी हिसाब से नहीं बढ़ती है तो आपको सावधान हो जाना चाहिए और कुछ प्लानिंग शुरू कर देनी चाहिए। तो चलिए हम आपको बताते हैं कि आप कैसे मैनेज कर सकते हैं।

Salary increment formula: वेतन का मूल्यांकन कैसे करें?

आपको अपने वेतन का मूल्यांकन दूसरे व्यक्ति के वेतन से अधिक करना चाहिए। यदि आप अपने वेतन का सही मूल्यांकन करेंगे तो वेतन संबंधी लगभग सभी समस्याएं दूर हो जाएंगी। महंगाई दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है और आरबीआई के मुताबिक सालाना महंगाई कम से कम 7% की दर से हर साल बढ़ रही है। इसका सीधा सा मतलब है कि आपके खर्चे भी हर साल बढ़ रहे हैं।

आपकी वेतन वृद्धि क्या है?

अगर आप पिछले साल किसी चीज को खरीदने के लिए 1 लाख रुपए खर्च करते थे तो अब बढ़ती महंगाई के चलते आपको उसी चीज को खरीदने के लिए 1 लाख 7 हजार रुपए खर्च करने पड़ेंगे। दुनिया में औसत वेतन वृद्धि हर साल 10 से 12 फीसदी होती है। यानी अगर आपकी सैलरी एक लाख रुपए है तो अगले साल आपको 10 से 12 हजार रुपए और मिलेंगे। यह बढ़ोतरी इसलिए बेहतर मानी जा रही है क्योंकि सैलरी में बढ़ोतरी महंगाई से ज्यादा होती है।

सैलरी न बढ़े तो क्या करें?

अगर आपकी सैलरी 7 या 8 साल में डबल नहीं होती है तो आपको प्लानिंग शुरू कर देनी चाहिए क्योंकि महंगाई हर साल बढ़ती जाएगी, उसकी तुलना में अगर आपकी सैलरी नहीं बढ़ती है तो आपको गैर-जरूरी खर्चों में कटौती करनी चाहिए। यदि मुद्रास्फीति 7 प्रतिशत वार्षिक की दर से बढ़ रही है और आपका वेतन 3 प्रतिशत वार्षिक की दर से बढ़ रहा है, तो आपको शेष 4 प्रतिशत की योजना बनानी चाहिए। इसके लिए आप खर्चों में कटौती कर सकते हैं या किसी अन्य स्रोत से अतिरिक्त आय अर्जित करना शुरू कर सकते हैं

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply