रूस का वह एहसान जिसे भारत कभी नहीं भुला सकता

573

आज हम आपको भारत-पाकिस्तान के बीच हुई सन 1971 की लड़ाई के बारे में बता रहे हैं। जो भारत ने पश्चिमी पाकिस्तान पर हमला कर दिया था। तब अमेरिका ने पाकिस्तान की सहायता के लिए अपने मित्र देशों से पाकिस्तान की मदद करने के लिए आगे आने को कहा।

loading...

अमेरिका के राष्ट्रपति ने भारत की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को पत्र लिखकर उसमें भारत को अमेरिका ने सीधी चुनौती दी। उसमें अमेरिकी सेना ने अपने जहाजों में परमाणु हथियार भरकर भारत की तरफ रवाना कर दिये।

इसके अलावा यूके जॉर्डन तुर्की सऊदी अरब इंडोनेशिया संयुक्त अमीरात फ्रांस आदि देशों ने भारत की तरफ आक्रमण की तैयारी कर ली। उसमें भारत चारों तरफ से गिर चुका था। उसमें बात अपनी पूरी ताकत दुश्मनों से निपटने में लगा रहा था। भारत को ऐसे संकट की घड़ी मैं खड़े देखकर रूस भारत के पक्ष में आ गया। रूस के मैदान में आते ही छोटे देश पीछे हट गए। अमेरिका और ब्रिटेन के परमाणु जहाजों को रूस की सेना ने घेर लिया। परिणाम यह हुआ कि रूस की सहायता से भारत ने बांग्लादेश को आजाद करवाया।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.