RBI 1 दिसंबर को लॉन्च करेगा Digital Currency, सबसे पहले इन शहरों में होगी लॉन्च

0 162

Digital Currency: भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने खुदरा स्तर पर एक डिजिटल रुपया (Digital Currency) पायलट प्रोजेक्ट शुरू करने की घोषणा की है। 1 दिसंबर से, आरबीआई ने कहा है कि वह खुदरा केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा (CBDC) के लिए एक पायलट परियोजना लाएगा और खुदरा डिजिटल रुपये (eR) के लिए पहला चरण शुरू करेगा।

आरबीआई 1 दिसंबर को अपनी डिजिटल करेंसी (सीबीडीसी) पायलट प्रोजेक्ट लॉन्च करने जा रहा है। पायलट प्रोजेक्ट क्लोज्ड यूजर ग्रुप्स (इस ग्रुप में उपभोक्ता और व्यापारी भी शामिल होंगे) के तहत चुनिंदा स्थानों पर लॉन्च किया जाएगा। ई-रुपया एक डिजिटल टोकन के रूप में कार्य करेगा। डिजिटल करेंसी उसी तरह काम करेगी जैसे करेंसी नोट और सिक्के काम करते हैं और अलग-अलग करेंसी के समान कीमत पर उपलब्ध होंगे। इसका वितरण बैंकों द्वारा किया जाएगा।

यह एक पायलट प्रोजेक्ट है – Digital Currency

इस प्रायोगिक परियोजना को चयनित स्थानों पर इस बंद उपयोगकर्ता समूह में शामिल किया जाएगा और इसमें ऐसे उपभोक्ता और व्यापारी शामिल होंगे जो इस समूह में शामिल होंगे। डिजिटल रुपया डिजिटल टोकन के रूप में होगा जो कानूनी निविदा होगी और बैंकों के बीच वितरित की जाएगी। आरबीआई ने कहा कि यूजर्स मोबाइल फोन या डिवाइस के जरिए बैंकों के डिजिटल वॉलेट से डिजिटल रुपयों का लेन-देन कर सकेंगे। ये लेन-देन एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में किया जा सकता है यानी दो व्यक्तियों के बीच और एक व्यक्ति और एक व्यापारी के बीच, क्यूआर कोड वाला व्यापारी व्यापारी को भुगतान कर सकता है। यह पायलट प्रोजेक्ट चुनिंदा जगहों पर ही शुरू किया जाएगा।

डिजिटल रुपयों पर कोई ब्याज नहीं मिलेगा – Digital Currency

आरबीआई ने कहा है कि कैश की तरह डिजिटल रुपयों पर भी कोई ब्याज नहीं मिलेगा। साथ ही, इसे अन्य प्रकार की मुद्रा में परिवर्तित किया जा सकता है अर्थात बैंकों में जमा किया जा सकता है। यह पायलट प्रोजेक्ट डिजिटल के तहत किए गए लेनदेन को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में स्थानांतरित करने की विधि का परीक्षण करने और वास्तविक समय में इसके उपयोग का परीक्षण करने में मदद करेगा। इस पायलट प्रोजेक्ट के अनुभवों के बाद इसका दायरा बढ़ाया जाएगा।

फिलहाल 4 शहरों में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया जाएगा

आरबीआई के मुताबिक, पायलट प्रोजेक्ट के लिए 8 बैंकों को नोटिफाई किया गया है। पहले चरण में देश के चार शहरों में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक समेत चार बैंक पायलट प्रोजेक्ट से जुड़ रहे हैं। बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक, एचडीएफसी बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक भी बाद में जुड़ेंगे। पायलट प्रोजेक्ट सबसे पहले दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु और भुवनेश्वर में लॉन्च किया जाएगा। इसके बाद इसे अहमदाबाद, गंगटोक, गुवाहाटी, हैदराबाद, इंदौर, कोच्चि, लखनऊ, पटना और शिमला में लॉन्च किया जाएगा। यदि आवश्यक समझा गया, तो पायलट परियोजना को और अधिक बैंकों, उपयोगकर्ताओं और विभिन्न स्थानों पर विस्तारित किया जाएगा।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply