नए साल में बदलेगी राहु की चाल, 2023 में इस राशि के जातकों को परेशान कर सकता है राहु

0 1,112

साल 2023 में शनि और गुरु के साथ राहु भी राशि परिवर्तन करेगा। जहां शनि ढाई साल में राशि बदलता है, वहीं बृहस्पति को राशि बदलने में करीब एक साल लगता है, वहीं हमेशा विपरीत दिशा में चलने वाला राहु 18 महीने में राशि बदलता है। राहु 30 अक्टूबर 2023 को राशि परिवर्तन करेगा। राहु मेष राशि से निकलकर मीन राशि में प्रवेश करेगा। वैदिक ज्योतिष में राहु को शुभ ग्रह नहीं माना जाता है। इन्हें अशुभ और छाया ग्रह कहा गया है।

वैदिक ज्योतिष में राहु-केतु को छोड़कर सभी ग्रहों की अपनी-अपनी राशि होती है। माना जाता है कि राहु शनि की तरह ही एक शुभ ग्रह है। राहु को एक मायावी ग्रह माना जाता है क्योंकि यह जातक के जीवन को अचानक प्रभावित करता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राहु जिस राशि में गोचर करता है उस राशि का स्वामी शुभ और अशुभ फल देता है। वहीं यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध बलवान हो तो राहु कभी भी अशुभ फल नहीं देता है। लेकिन साल 2023 में राहु के राशि परिवर्तन के कारण ये कुछ लोगों को काफी परेशानी और दर्द दे सकते हैं।

मेष राशि

साल 2023 में राहु आपकी राशि से दशम भाव में प्रवेश करेगा। कुंडली में इस भाव से विदेश यात्रा, एकांत जीवन, जेल यात्रा और मोक्ष का विचार किया जाता है। वैदिक ज्योतिष में इस भाव को अशुभ माना गया है, लेकिन साल की शुरुआत में राहु आपके प्रथम भाव में आपकी राशि में गोचर करेगा। इस भाव में राहु की स्थिति भ्रम की स्थिति पैदा करेगी और जल्दबाजी में लिया गया कोई भी निर्णय आपको बहुत परेशानी में डाल सकता है। इस वर्ष आपको आर्थिक हानि होने की संभावना अधिक है। मई-अगस्त के बीच गुरु-चांडाल दोष होने से आपको जीवन के हर क्षेत्र में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। वर्ष 2023 में बारह भावों में स्थित राहु आपके अष्टम, छठे और चतुर्थ भाव पर दृष्टि डालेगा। ऐसे में यह आपके लिए आर्थिक हानि और स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत है। दुर्घटना की स्थिति में वाहन सावधानी से चलाएं। अपने शत्रुओं से विशेष रूप से सावधान रहें और पारिवारिक झगड़ों से दूर रहें, यही आपके लिए बेहतर होगा।

सिंह राशि

30 अक्टूबर को राहु आपके अष्टम भाव में विराजमान होंगे, जो अगले एक साल तक रहेगा। कुंडली में आठवां भाव भी शुभ नहीं माना जाता है। यह आपके स्वास्थ्य, कार्यक्षेत्र और कार्यक्षेत्र में परेशानी बढ़ा सकता है। निवेश आदि बहुत सोच-समझकर करें और वाहन आदि चलाते समय विशेष ध्यान रखें। इस साल आपको किसी के बहकावे में नहीं आना चाहिए। इस वर्ष आपके अष्टम भाव में विराजमान राहु आपके 12वें द्वितीय और चतुर्थ भाव में गोचर करेगा। जो लोग पार्टनरशिप में कोई काम कर रहे हैं उन्हें इस साल भारी नुकसान हो सकता है। पैतृक संपत्ति को लेकर कोई विवाद उत्पन्न हो सकता है और मामला कोर्ट कचहरी तक जा सकता है।

मीन राशि

राहु 30 अक्टूबर को आपके पहले भाव में गोचर करेगा, जिसकी यात्रा आपके दूसरे भाव से समाप्त होगी। राहु आपके विवाह भाव पर चरने वाला है। कुंडली के लग्न भाव से व्यक्ति के स्वभाव के बारे में जाना जा सकता है। इस भाव में बैठकर राहु आपके पंचम, सप्तम और नवम भाव पर दृष्टि डाल रहा है। साल 2023 में आपसे कोई बड़ा फैसला लेने में गलती हो सकती है, जिसमें आपको धन हानि के साथ-साथ मानसिक परेशानी का भी सामना करना पड़ सकता है। निवेश में आपको घाटा हो सकता है। प्रेम जीवन और वैवाहिक जीवन में भी आपको कलह और संघर्ष का सामना करना पड़ सकता है। साल 2023 की शुरुआत में राहु आपकी राशि से दूसरे भाव में विराजमान रहेंगे। जिसमें आपको कुछ मानसिक और शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। कोई भी निर्णय लेते समय उन्हें बहुत ही सावधानी से करें। अन्यथा आर्थिक हानि होने की संभावना है।

 

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply