पितृदोष दूर करने के लिए उपाय

601

उपायः
पितृदोष दूर करने के लिए अमावस्या के दिन सवा गज सफेद कपड़ा लें। उसे किसी पट्टे, या चौकी पर बिछा दें। उसके एक कोने में सवा पांच रुपये तथा कुछ चावल रख कर बांध दें और एक नारियल ले कर, पितरों का ध्यान करते हुए, उस कपड़े पर रखें तथा नारियल को भी बांध कर गांठ लगा दें। ऐसा करने के पष्चात् नारियल को उठा कर किसी सुरक्षित स्थान पर रख दें तथा सफेद मिठाई बच्चों और गरीबों को खिला दें। संभव हो, तो खाना खाने से पहले थोड़ा अन्न निकाल कर अलग रख दें। उसे बाद में गाय आदि को खिला दें। माता-पिता के रोजाना चरण छू कर उनका आशीर्वाद प्राप्त करें।

पितृदोष दूर करने के लिएः
यदि घर में पितृ दोष हो, तो आधा मीटर लंबा और इतना ही चौड़ा नया सफेद वस्त्र लें और इस वस्त्र मके एक कोने में एक चुटकी चावल और सवा रुपया बांध कर गांठ लगा दें। अब इस कपड़े में 1 डंडी सहित पानी का नारियल बांध दें और नारियल को अपने घर के मंदिर में स्थापित करके 5 अगरबत्तियां प्रज्वलित कर लें और मन में अपने पूर्वजों से (जिन्हें जानते हों या न भी जानते हो) कहें कि वे आएं और मदद करें। तृम्यो नमः की एक माला का जाप करें। अपनी दैनिक पूजा के समय प्रातः या सायं को सर्वप्रथम यही मंत्र 21 बार उच्चारित करें। 21 दिन के अंदर-अंदर आपके पूर्वज स्वप्न में सफेद सर्प या अपने पिता या दादा के रूप में दर्शन देंगे। माह की अमावस्या के दिन अपने पूर्वजों के नाम का दीपक भी जलाएं और अपनी श्रद्धा के अनुसार प्रसाद चढ़ाए, तो घर का पितृ दोष दूर हो कर, संपूर्ण मंगल ही मंगल रहेगा।

Sab Kuch Gyan से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे…

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.