शाकाहारी खाना की जगह परोसा मांसाहार, विरोध करने पर मर्चेंट नेवी अफसर व भाई को खदेड़ा और पीटा

95

बाराबंकी के कोतवाली क्षेत्र में लखनऊ-अयोध्या मार्ग स्थित एक रेस्टोरेंट में खाना नहीं मिलने के विरोध में बदमाशों ने मर्चेंट नेवी में तैनात एक अधिकारी व उनके साथियों की पिटाई कर दी. जिससे यहां अफरातफरी मच गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने लहूलुहान युवकों को जिला अस्पताल पहुंचाया। इनमें से एक को गंभीर चोटें आई हैं। घायल युवक के पिता ने रेस्टोरेंट मैनेजर व दो अन्य समेत 20 से 25 अजनबियों के खिलाफ तहरीर दी है. फायरिंग का भी आरोप है।

लखनऊ के गाजीपुर थाना क्षेत्र के लक्ष्मणपुरी निवासी संतोष मिश्रा के मुताबिक उनका बेटा इशांत मिश्रा हांगकांग में मर्चेंट नेवी में अधिकारी है. इस समय वे छुट्टी पर आए हैं। बुधवार को उनका जन्मदिन था और इसी वजह से इशांत अपने चचेरे भाई शौर्य मिश्रा और दो साथियों आयुष और अनुराग के साथ बुधवार की रात बाराबंकी के सुभाषनगर मोहल्ला स्थित ननिहाल गए थे.

रात करीब 1 बजे सभी सफ्ताबाद के पास लखनऊ-अयोध्या बॉर्डर पर स्थित कालिका हवेली रेस्टोरेंट में डिनर के लिए रुके. शाकाहारी खाना ऑर्डर करने के बाद भी मांसाहारी खाना परोसा गया। इसका विरोध करते हुए रेस्टोरेंट ने हंगामा शुरू कर दिया। इसी बीच इशांत और शौर्य पर प्रवीण सिंह, दीपक यादव व 20 से 25 अन्य लोगों ने हमला कर दिया और मैनेजर को गालियां दीं.

उसे दौड़ा-दौड़ा कर लाठी-डंडों से पीटा। रेस्टोरेंट के बाहर काफी देर तक अफरातफरी मची रही। इस बीच रेस्टोरेंट के मैनेजर पर भी फायरिंग का आरोप है। इस हमले में इशांत गंभीर रूप से घायल हो गए थे। सूचना मिलने पर 112 नंबर पर पुलिस पहुंची और ईशांत व शौर्य को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। दोपहर करीब ढाई बजे सूचना पर परिजन भी पहुंच गए।

शहर कोतवाल संजय मौर्य ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। उधर, घायल ईशांत के पिता संतोष ने आरोप लगाया कि उसने ही बच्चों पर हमला किया था और पुलिस ने मामला दर्ज करने के बजाय पूरे दिन ईशांत के साथी को थाने में ही रखा।

पहले भी चली थीं गोलियां, आए दिन विवाद होता रहा

सफ्ताबाद के पास एक रेस्तरां कालिका हवेली में विवाद, मारपीट और गोलीबारी कोई नई बात नहीं है। जिससे कई बार ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं। इससे पहले नवंबर 2020 में भी यहां मारपीट और फायरिंग हुई थी। मामला दर्ज किया गया था। जनवरी 2020 में भी काफी मारपीट और तोड़फोड़ देखने को मिली। जिसमें रेस्टोरेंट के प्रबंधक व कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

सैंपल फेल होने पर 10 हजार जुर्माना

कालिका हवेली में खाने को लेकर विवाद सामने आते रहते हैं। खाने की गुणवत्ता की बात करें तो एफएसडीए ने पनीर का सैंपल जांच के लिए भेजा था. जो परीक्षा में अनुत्तीर्ण हो गया। उस पर 10 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.