प्रेमी की मौत से खुला रहस्य, अविवाहित गर्भवती महिला से दुष्कर्म, पीड़िता ने नहीं दी जानकारी

1,064

एक 19 साल की नाबालिग गर्भवती जब रात के अंधेरे में डॉक्टर को दिखाकर गांव वापस लौट रही थी, तब तीन लोगों ने उनकी बाइक रोक ली। प्रेमी की मारपीट की और मोबाइल छीनकर भगा दिया। इसके बाद तीनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। यही नहींं बाद में उसे गांव ले जाकर दो दोस्तों से भी दुष्कर्म कराया। इसके बाद उसे सड़क पर छोड़ दिया।

बता दें कि, युवती अविवीहित होकर भी दो माह की गर्भवती थी, किसी तरह यह जानकारी आरोपियो को थी। इसलिए वे जानते थे कि, प्रेमी युगल उनका विरोध न कर सकेंगे।

हुआ भी यही युवती पांच लोगों की दरिंदगी का शिकार बनी, लेकिन विरोध न कर सकी। उसका गर्भपात हो गया, तब भी किसी को न बताकर चुपचाप इलाज कराने लगी।

Mystery uncovered by boyfriend's death, gangrape from unmarried pregnant woman, not disclosed by victim

दूसरी तरफ उसका प्रेमी भी चुपचाप चला गया। लेकिन दूसरे दिन उसकी लाश गांव के पास एक पेड़ से लटकी मिली। अनुमान है कि, प्रेमिका की रक्षा न कर पाने और उसके गर्भवती होने की बात के उजागर होने की आशंका के चलते शर्मिंदगी महसूस कर खुदकशी कर ली।

पेड़ पर लटकी लाश की सूचना पर पुलिस आई। जांच के दौरान मृतक का मोबाइल गायब मिला, उसे ट्रेस कराया तो वह जितेन्द्र नाम के युवक के पास मिला। पुलिस ने जितेन्द्र को हत्या के मामले में पूछताछ करने के लिए हिरासत में लिया तो सामने आई दो माह की गर्भवती महिला से सामूहिक बलात्कार की यह शर्मनाक वारदात।

Mystery uncovered by boyfriend's death, gangrape from unmarried pregnant woman, not disclosed by victim

यह शर्मनाक वारदात राजस्थान के बांसवाड़ा जिले की है। पेड़ पर लटकी लाश की जांच पुलिस मैं दर्ज हुई रिपोर्ट के अनुसार, 19 साल की पीड़िता दो महीने से गर्भवती थी। उस दिन वह अपने प्रेमी के साथ बांसवाड़ा से अपने गांव जा रही थी। इस दौरान रात के करीब 10 बजे सुनील, विकास और जितेंद्र ने उनकी बाइक रोक ली और फिर पीड़िता के प्रेमी पर चाकू और लोहे के रॉड से हमला कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने उसका मोबाइल छीनकर उसको (प्रेमी) वहां से भगा दिया।

पुलिस के अनुसार, घटना 13 जुलाई के रात की है। बांसवाड़ा के सीओ पारबती लाल ने कहा कि तीनों आरोपी शराब के नशे में धुत थे और उन्होंने पीड़िता को सूनसान जगह पर ले जाकर सामूहिक बलात्कार कर दिया। इसके बाद वे उसे सुनील के गांव ले गए, जहां नरेश और विजयने भी बलात्कार किया।

Mystery uncovered by boyfriend's death, gangrape from unmarried pregnant woman, not disclosed by victim

पुलिस अधिकारी ने कहा कि घटना को अंजाम देने के बाद आरोपियों ने पीड़ितो को सुबह 4 बजे के करीब 14 जुलाई को सड़क किनारे फेंक दिया। लेकिन पीड़िता ने इसके बाद घटना की जानकारी किसी को नहीं दी।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि जब वह पीड़िता के प्रेमी की मौत की जांच के दौरान उसके मोबाइल के कारण उन्होंने जितेंद्र को गिरफ्तार किया, तब जाकर उन्हें बलात्कार के मामले की जानकारी हुई।

फिलहाल, पीड़िता का इलाज चल रहा है। उसने भूदपुलिस के सामने सारी घटना की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने 17 जुलाई को पीड़िता की शिकायत दर्ज की। पुलिस ने इस मामले में अब तक सभी आरोपियों को गिरफ्तार करके, उनमें से 4 आरोपियों को कोर्ट में भी पेश कर दिया है।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.