मिलिए तेजस्वी प्रभुलकर से जिसने गुद्वायें हैं अपनी बॉडी में सौ से भी ज्यादा टैटू, सिर्फ एक वजह से

184

Rochak Baatein:- कहते हैं शौक बड़ी चीज है लेकिन कुछ लोगों के शौक इतने अजीब होते हैं जिससे हैरानी होती है। कुछ ऐसा ही हुआ है मुंबई की लड़की के साथ जिसको टैटू बनवाने का शौक है। उसने अपना पूरा शरीर टैटू से गुदवा लिया है। उसकी पूरी बॉडी में 103 टैटू हैं। आखिर उसने ऐसा क्यों किया, चलिए हम बताते हैं।

Meet the more than one hundred tattoos in the body of the stunning Lord, who is good, only for one reason लिम्का बुक में आ गया नाम

मुंबई की इस लड़की का नाम तेजस्वी प्रभुलकर है। वो अभी 21 साल की है और 103 टैटू अपने शरीर में बनवा चुकी है। उसका ये शौक उसके लिए मशहूर होने का जरिया भी बन गया क्योंकि लिम्का बुक में उसका नाम आ चुका है। तेजस्वी खुद भी एक टैटू आर्टिस्ट, पेंटर और मॉडल हैं। तेजस्वी को अपने शौक के कारण अपना घर तक छोड़ना पड़ गया है लेकिन उसने हार नहीं मानी। 4 आसान से सवालों के जवाब देकर जीतें 400 रु– यहां क्लिक करें

Meet the more than one hundred tattoos in the body of the stunning Lord, who is good, only for one reason

इस वजह से बनवाए शरीर में टैटू

तेजस्वी के नाम को लोग गलत बोलते थे। कोई तेजस्विनी तो कोई तेजश्री कहता था। इसके बाद 17 साल की उम्र में उसने गुस्से में आकर अपने शरीर में ही अपना नाम लिखवा लिया। हालांकि इसके बाद उसको टैटू बनवाने का शौक ही हो गया। तेजस्वी कहती हैं कि उनके शरीर पर बने हर टैटू का एक अलग मतलब है, जिसे वो अपनी जिंदगी से जोड़कर देखती हैं।

4 आसान से सवालों के जवाब देकर जीतें 400 रु– यहां क्लिक करें

जिओ BIG Sale  :- 

Jio 2 Smartphone  मोबाइल को 499 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे
JIO Mini SmartWatch को 199 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे
JioFi M2 को 349 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Jio Fitness Tracker को 99 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.