लक्षद्वीप – जो पूरे विश्व में अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है

55

लक्षद्वीप का संस्कृत में मतलब हज़ारों द्वीप है और यह भारत के दक्षिण-पश्चिम में हिंद महासागर में स्थित एक भारतीय द्वीप-समूह है। इसकी राजधानी कवरत्ती है। लक्षद्वीप द्वीप-समूह में कुल 36 द्वीप है, जो पूरे विश्व में अपनी खूबसूरती के लिए जाने जाते है

Lakshadweep - which is known for its beauty all over the world

लक्षद्वीप द्वीप-समूह की उत्तपत्ति प्राचीनकाल में हुए ज्वालामुखीय विस्फोट से निकले लावा से हुई है। यह भारत की मुख्यभूमि से लगभग 300 कि॰मी॰ दूर पश्चिम दिशा में अरब सागर में अवस्थित है। यह द्वीप कोच्ची से 220से 440 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

Lakshadweep - which is known for its beauty all over the world

लक्षद्वीप में 36 द्वीप में से केवल 7 द्वीपों पर जनजीवन है। देशी पयर्टकों को 6 द्वीपों पर जाने की अनुमति है जबकि विदेशी पयर्टकों को केवल 2 द्वीपों (अगाती व बंगाराम) पर जाने की अनुमति है।

Lakshadweep - which is known for its beauty all over the world

लक्षद्वीप में खूबसूरत दृश्य, बीच, अलग अलग प्रकार के पेड़ पौधे और साधारण जीवन देखने को मिलता है, जो प्रदूषण से बहुत दूर है। यहाँ मौजूद नारियल के पेड़, खाड़ी, सुनसान बीच और चट्टानें यहाँ पर पर्यटकों को आकर्षित करती है। यहाँ पर एडवेंचर करने के लिए लोग स्कूबा फिशिंग, डाइविंग और कयाकिंग भी करते है।

Lakshadweep - which is known for its beauty all over the world

लक्षद्वीप का तापमान 27 डिग्री से 32 डिग्री के बीच रहता है। इसका तापमान सुहावना होता है। लक्षद्वीप में सबसे गर्म महीने अप्रैल और मई है। मानसून में जहाज़ में पर्यटन बंद कर दिया जाता है। लक्षद्वीप जाने का सबसे उम्दा समय अक्टूबर से मार्च है। इस द्वीप पर कोच्ची से रोज़ाना हवाई जहाज़ जाता है। अगत्ती से कवरत्ती तक हेलीकाप्टर चलता है। पर्यावरण से प्यार करने वाले लोग, शांति को पसंद करने वाले और फोटो खींचने के शौक़ीन लोगों को यहाँ ज़रूर जाना चाहिए।

Lakshadweep - which is known for its beauty all over the world

अक्टूबर से मई तक लक्षद्वीप में जाना बेहद सुहावना रहता है क्यूंकि यहाँ पर साफ़ नीले समुद्र में सूरज की किरणों तले ठंडी ठंडी हवा का एहसास बेहद मज़ेदार होता है। हालाँकि यह द्वीप पूरे साल खुला रहता है लेकिन मानसून में इसे बंद किया जाता है और मानसून यहाँ पर मई से सितम्बर के बीच होता है।

Lakshadweep - which is known for its beauty all over the world

मानसून का असर अगत्ती और बंगरम पर नहीं पड़ता और इन द्वीपों पर कोच्ची से आराम से जाय जा सकता है लेकिन मानसून में अगत्ती से बंगरम तक सिर्फ हेलीकाप्टर ही चलते है। लेकिन कोई भी जहाज़ और हेलीकाप्टर मिनिकॉय, कदमत और कवरत्ती द्वीप पर मानसून की बारिश से लक्षद्वीप काफी हरा भरा लगता है और यह इसकी खूबसूरती को और भी निखार देता है।

4 आसान से सवालों के जवाब देकर जीतें 400 रु– यहां क्लिक करें

जिओ Sale :- 
Jio 2 Smartphone  मोबाइल को 499 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे
JIO Mini SmartWatch को 199 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे
JioFi M2 को 349 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

Jio Fitness Tracker को 99 रुपये में खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करे

यह है वो 4 भारतीय खिलाडी जिनका 2019 विश्व कप में खेलना पक्का | Top 4 batsman play in world cup 2019


सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.