IPL: डेयरडेविल्स ने सनराइजर्स को सात विकेट से हराया

0 10

अमित मिश्रा और क्रिस मौरिस की अगुवाई में कसी हुई गेंदबाजी और युवा बल्लेबाजों के बेजोड़ प्रदर्शन से दिल्ली डेयरडेविल्स ने आईपीएल नौ के मैच में सनराइजर्स हैदराबाद को 11 गेंद शेष रहते हुए सात विकेट से हराया.

सनराजइर्स ने पहले दस ओवर में एक विकेट पर 80 रन बनाये, लेकिन डेयरडेविल्स ने आखिरी दस ओवर में केवल 66 रन दिये और इस बीच सात विकेट लिये. इससे सनराइजर्स टास गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 146 रन तक ही पहुंच पाया. कप्तान डेविड वार्नर ने सनराइजर्स की तरफ से सर्वाधिक 46 रन बनाये. इसके लिये उन्होंने 30 गेंदें खेली तथा छह चौके और एक छक्का लगाया. शिखर धवन (37 गेंद पर 34 रन) और केन विलियमसन : 24 गेंद पर 27 रन : ने भी क्रीज पर पर्याप्त समय बिताया लेकिन वे अपेक्षित तेजी से रन नहीं बना पाये.

इसके जवाब में क्विंटन डिकाक (31 गेंदों पर 44 रन) ने डेयरडेविल्स को अच्छी शुरूआत दिलायी. बाद में आईपीएल में अर्धशतक जड़ने वाले दो सबसे युवा बल्लेबाजों संजू सैमसन (26 गेंदों पर नाबाद 34) और रिषभ पंत (26 गेंदों पर नाबाद 39) ने बखूबी जिम्मेदारी निभायी. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिये 72 रन की अटूट साझेदारी की जिससे डेयरडेविल्स ने 18.1 ओवर में तीन विकेट पर 150 रन बनाकर प्लेआफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को पंख लगाये.

डेयरडेविल्स ने दसवें मैच में अपनी छठी जीत दर्ज की. अब वह 12 अंक लेकर तीसरे स्थान पर पहुंच गया है. सनराइजर्स हैदराबाद को 11वें मैच में चौथी हार का सामना करना पड़ा. वह हालांकि 14 अंक लेकर अब भी शीर्ष पर बना हुआ है.

गेंदबाजों ने डेयरडेविल्स के लिये जीत का मंच तैयार किया. मिश्रा ने दस ओवर पूरे होने के बाद गेंद थामी और इसके बाद पूरा परिदृश्य बदल गया. उन्होंने तीन ओवर में 19 रन देकर दो विकेट लिये जबकि मौरिस ने चार ओवर में 19 रन देकर एक और नाथन कूल्टर नाइल ने 25 रन देकर दो विकेट हासिल किये.

पिच बल्लेबाजी के लिये आसान नहीं लग रही थी लेकिन डिकाक पर इसका कोई असर नहीं दिखा. उन्होंने सनराइजर्स के अनुभवी गेंदबाज आशीष नेहरा को निशाने पर रखा. इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने उनके पहले ओवर में दो चौके लगाने के बाद अगले ओवर में स्क्वायर लेग पर छक्का भी लगाया. नेहरा हालांकि इस बीच मयंक अग्रवाल (10) को आउट करने में सफल रहे.

डिकाक जल्द से जल्द टीम को लक्ष्य तक पहुंचाने पर आमादा थे. बरिंदर सरण पर लगाया उनका छक्का इसका सबूत था लेकिन तभी हेनरिक्स के एक ओवर ने सनराइजर्स की उम्मीद जगा दी. हेनरिक्स ने करूण नायर (20) को यार्कर पर बोल्ड किया और फिर डिकाक को भी पवेलियन भेजा. डिकाक का हालांकि भाग्य ने साथ नहीं दिया क्योंकि जब उन्हें विकेट के पीछे कैच आउट दिया गया तब गेंद उनके बल्ले से लगकर नहीं गयी थी लेकिन हेनरिक्स की लगातार अपील पर अंपायर मारियास इरासमुस की उंगली उठ गयी. डिकाक ने अपनी पारी में पांच चौके और दो छक्के लगाये तथा नायर के साथ दूसरे विकेट के लिये 55 रन जोड़े.

अब डेयरडेविल्स की जिम्मेदारी दो युवा बल्लेबाजों पर थी. सैमसन ने हेनरिक्स की गेंद मिडविकेट पर छह रन के लिये भेजी तो पंत ने मुस्तफिजुर रहमान पर लांग आन क्षेत्र में छक्का लगाकर स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया. पंत ने इसके बाद भी अपनी आक्रामक शैली का अच्छा नजारा पेश किया. दिल्ली के इस युवा बल्लेबाज ने भुवनेश्वर कुमार पर छक्का जड़ने के बाद मुस्तफिजुर की फुलटास को भी छह रन के लिये भेजा. सैमसन ने युवराज पर विजयी छक्का लगाया.

इससे पहले जहीर खान के चोटिल होने के कारण जेपी डुमिनी ने टीम में वापसी करने के साथ कप्तानी का जिम्मा भी संभाला और टास जीतने के बाद वर्तमान आईपीएल की परंपरा का निर्वाह करते हुए सनराइजर्स को पहले बल्लेबाजी सौंपी.

वार्नर शुरू से तेजी से रन बनाकर धवन के साथ मिलकर पहले विकेट के लिये 67 रन जोड़े. जब जयंत यादव ने आफ ब्रेक पर वार्नर के लेग स्टंप से गिल्ली उड़ायी तब धवन 16 रन पर खेल रहे थे. वार्नर ने मोहम्मद शमी का स्वागत दो चौकों से किया और फिर जयंत पर दो चौकों के अलावा यादव पर छक्का भी लगाया. उन्होंने अपनी पारी के दौरान लगातार तीसरे आईपीएल में 500 से अधिक रन भी पूरे किये.

Sab Kuch Gyan से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे…

loading...
loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.