कर्म करना बहुत अच्छा है पर वह विचारो से आता है -प्रेरणादायक विचार

841

जो सचमुच दयालु है, वही सचमुच बुद्धिमान है,

और जो दूसरों से प्रेम नहीं करता उस पर ईश्वर की कृपा नहीं होती।

फल मनुष्य के कर्म के अधीन है, बुद्धि कर्म के अनुसार आगे बढ़ने वाली है,

तथापि विद्वान और महात्मा लोग अच्छी तरह विचारकर ही कोई काम करते है।

Inspiring Thoughts In Hindi

कर्म करना बहुत अच्छा है पर वह विचारो से आता है,

इसलिए अपने मस्तिष्क को उच्च विचारो एवं उच्चतम आदर्शो से भर लो,

उन्हें रात-दिन अपने सामने रखो, उन्हीं में से महान कर्मो का जन्म होगा,

ईमानदारी और बुद्धिमानी के साथ किया हुआ काम कभी व्यर्थ नहीं जाता।

Inspiring Thoughts In Hindi

निष्काम कर्म ईश्वर को ऋणी बना देता है और,

ईश्वर उसे फल सहित वापस करने के लिए बाध्य हो जाता है।

हम सभी ईश्वर से दया की प्रार्थना करते हैं और,

वही प्रार्थना हमें दया करना भी सिखाती है।

पहले कहना और बाद में करना इसकी अपेक्षा,

पहले करना और फिर कहना अधिक श्रेयस्कर है।

Inspiring Thoughts In Hindi

प्रेम और दया के तुम्हारे छोटे-छोटे विस्मृत कार्य,

अच्छे मनुष्य के जीवन के सबसे अच्छे भाग होते है।

खाली बैठना दुनिया में सबसे थकाने वाला काम है,

क्योंकि सर्वस्व त्याग देना और आराम करना असंभव है।

कर्मयोगी अपने लिए कुछ करता ही नहीं।

Inspiring Thoughts In Hindi

अपने लिए कुछ भी नहीं चाहता और अपना कुछ मानता भी नहीं।

इसलिए उसमे कामनाओं का नाश सुगमता पूर्वक हो जाता है।

जैसे फूल और फल किसी की प्रेरणा के बिना ही

अपने समय पर वृक्षों में लग जाते है,

उसी प्रकार पहले के किये हुए कर्म भी,

अपने फल-भोग के समय का उल्लंघन नहीं करते।

Inspiring Thoughts In Hindi

सच्चा काम अहंकार और स्वार्थ को छोड़े बिना नहीं होता।

जैसे तेल समाप्त हो जाने से दीपक बुझ जाता है,

उसी प्रकार कर्म के क्षीण हो जाने पर दैव नष्ट हो जाता है।

काम को आरम्भ करो और अगर काम शुरू कर दिया है,

तो उसे पूरा करके ही छोड़ो।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.