भारत का एकमात्र रेसलर जो 52 साल तक नहीं हारा, नाम जानकर खुश हो जायेंगे

297

डब्लूडब्लूई में कई भारतीय रेसलर्स ने रिंग में शानदार प्रदर्शन कर देश का नाम विश्वभर में रोशन किया. आज आपको ऐसे भारतीय रेसलर्स के बारें में बताएँगे जो डब्लू डब्लू ई में खेलकर भारत का रोशन किया और इनमे से एक नाम 52 साल तक ना हारने का रिकॉर्ड दर्ज है.

4. जिंदर महल

India's only wrestler who has not lost for 52 years, will be happy to know the name

जिंदर महल एक पेशेवर कनेडियन रेसलर है इनका असली नाम युवराज राज देशाई है. वर्तमान में जिंदर महल डब्लूडब्लूई के स्मैकडाउन ब्रांड में खेल रहें है. जिंदर महल दिग्गज रेस्लर गामा पहलवान के भतीजे है.

3. महाबली शेरा

loading...

India's only wrestler who has not lost for 52 years, will be happy to know the name

पंजाब के अमनप्रीत सिंह उर्फ़ महाबली शेरा डब्लूडब्लूई के NXT ब्रांड पर खेल रहें है. शेरा ने रिंग का किंग और TNA ग्लोबल इम्पैक्ट टूर्नामेंट जीता है. शेरा जल्द ही डब्लूडब्लूई में खेल सकते है.

2. द ग्रेट खली

India's only wrestler who has not lost for 52 years, will be happy to know the name

खली पंजाब पुलिस में अधिकारी रह चुके है. लम्बे कद काठी वाले खली को डब्लूडब्लूई में सबसे ताकतवर रेसलर माना जाता . फिलहाल खली डब्लूडब्लूई रिंग में नही खेल रहें है. लेकिन वे अपने समय के दिग्गज रेसलर केन, अंडरटेकर, जॉन सीना, बिग शो जैसे बड़े रेसलर के साथ लड़ चुके है.

1. द ग्रेट गामा पहलवान

India's only wrestler who has not lost for 52 years, will be happy to know the name

भारतीय इतिहास के सबसे ताकतवर और कभी ना हारने वाले रेसलर गामा पहलवान अमृतसर के जब्बोवल गाँव से थे. इन्होने वर्ल्ड हेवीवेट चैंपियनशिप अपने नाम की थी. गामा पहलवान रिकॉर्ड 52 साल तक नहीं हारें. इन्हें रेसलिंग के क्षेत्र में सबसे शानदार रेसलर माना गया. गामा पहलवान ने विदेशी पहलवानों को उनकी सरजमी पर पस्त किया.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.