भारत में एक ऐसा अद्बुध कुंड जिसमे ताली बजाने से निकलता है पानी का फव्वारा

809

भारत दुनिया का एक ऐसा इकलौता देश है जो हर तरह के अजीबो-गरीब रहस्यों को अपने अंदर सिमटाए हुए है | भारत में दुनिया भर से बड़े-बड़े साइंटिस्ट रिसर्च करने आते हैं, परन्तु फिर भी कुछ ऐसी घटनाएं हैं जिनका हल किसी से भी नहीं निकला तथा वह एक पहेली बन कर ही रह गयी हैं | आज हम बात करेंगे एक ऐसे ही रहस्य कि जो झारखण्ड के बोकारो जिले कि है | यहां एक अनोखा कुंड पाया गया है जिसके आस-पास ताली बजाने से इसमें पानी के फव्वारे निकलते हैं |

SBI बैंक में निकली 10th-12th के लिए क्लर्क भर्ती- लास्ट डेट : 26 जनवरी 2020

दिल्ली पुलिस नौकरियां 2019: 649 हेड कांस्टेबल पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन करें

loading...

AIIMS भोपाल में निकली नॉन फैकेल्टी ग्रुप A के लिए भर्तियाँ – अभी देखें 

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

भारत में हर मुद्दे को आस्था से जोड़ दिया जाता है, और कुछ लोग इस कुंड को भी इसी नज़र से देखते हैं | इस करिश्माई कुंड से सर्दियों में गरम तथा गर्मियों में ठंडा पानी निकलने की मान्यता है | इस कुंड से लोगों का विश्वास जुड़ा हुआ है तथा उनका मानना कि इस पानी से नहाने के बाद किसी भी शारीरिक बीमारी को दूर किया जा सकता है |In India, a maroon pool in which the fountain of water comes out by clapping

कुंड से पानी निकलने के बाद सीधा एक नाले में गिरता है जिसका नाम जमुई है, तथा इसके बाद यह गरगा नदी में मिल जाता है | परन्तु ताली बजाकर पानी का फव्वारे कि तरह कुंड से बाहर आना किसी आश्चर्य से कम् नहीं है | कुछ साइंटिस्ट का मानना है कि ताली बजाने से जो धवनि पैदा होती है यह उसका कारण हो सकता है, परन्तु अभी तक इसका कोई पक्का परिणाम सामने नहीं आया है |In India, a maroon pool in which the fountain of water comes out by clapping

कुंड के पास दलाई गोसाई नाम के एक देवता का मंदिर है, जिसमे लागों की बहुत मान्यता है | इस मंदिर में हर रविवार को लोगों कि भीड़ पूजा करने के लिए उमड़ती है | वर्ष 1984 के बाद से यहां हर साल मकर सक्रान्त का मेला भी लगाया जाता है | इसलिए कभी भी आपका यहां घूमने का मन हो, तो यह जगह जगासुर गांव में बोकारो से करीब 27 किमी दूर है |

Comments are closed.