8 घंटो से कम नींद लेते है है , तो इस खबर को ज़रूर पढ़े ,पछताना पड़ सकता है

2,018

अक्सर हम अपनी परेशानियों और बीमारियों का टिकरा भागदौड़ भरी जिंदगी पर फोड़ते हैं. पर एक विशेषज्ञों के अनुसार यह परेशानी हम खुद मोल लेते है. इनमें से एक है स्लीपिंग डिसऑर्डर. आंकड़ों की मानें तो केवल 26 फीसदी लोग ही 7 से 9 घंटे की नींद लेते हैं, जो कि स्वस्थ रहने के लिए बेहद जरूरी है. नींद न पूरी होने से न सिर्फ हमारा स्वास्थ्य खराब होता है बल्कि हमारे कार्य क्षमता भी कमजोर होती है आज हम आपको कम नींद से होने वाले परेशानियों के बारे में पता नहीं जा रहे हैं.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें

मानसिक स्थिति :

if you sleep less than 8 hours , then read this कम नींद

अगर हम पूरी नींद नहीं लेते है तो इसका सीधा असर हमारी मानसिक स्थिति पर होता हैं.

पूरी नींद लेने से दिमाग को आराम मिलता है, जिससे अगले दिन सुबह दिमाग को नई ऊर्जा मिलती हैं

. लेकिन नींद की कमी के कारण याददाश्त जैसे मानसिक समस्याएं आने लगते हैं.

loading...

किडनी पर असर :

if you sleep less than 8 hours , then read this कम नींद

एक रिसर्च के अनुसार यह पाया गया है की, कम नींद लेने से शरीर के किडनी पर बुरा असर पड़ता हैं.

इस रिसर्च में प्रतिदिन 5 घंटे सोने वाले महिला की तुलना में 8 घंटे सोने वाले

महिलाओं किडनी की कार्यक्षमता अच्छा रहता हैं. कम नींद के कारण किडनी खराब हो सकती हैं.

शारीरिक कमजोरी :

if you sleep less than 8 hours , then read this कम नींद

सात से आठ घंटे की नींद लेने से मस्तिष्क के तंतुओं को और शरीर के स्नायु को आराम मिलता हैं.

जिससे शारीरिक थकान कम होकर शरीर को नई ऊर्जा मिलता हैं

. वही अगर पूरी नींद न लेने से तनाव बढ़ता है, जिसकी वजह से शारीरिक कमजोरी होने लगती हैं.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.