ऑइली हेयर की चिपचिपाहट से हैं परेशान तो जानिए 5 टिप्स जिन से शायद आप हो अनजान

975

जब भी आप शैम्पू करते हैं, तब कुछ दिनों तक तो बाल बहुत अच्छे दिखते हैं लेकिन 2-3 दिन बाद से ही बालों में वापस से ऑइली आने लगता है और वे तैलीय हो जाते हैं। यह समस्या और भी बढ़ जाती है, जब मौसम बरसात का हो और बाल भी पहले से ही तैलीय हों बरसात के दिनों में अक्सर बालों में चिपचिपाहट की समस्या सामने आती है। नमी और उमस के कारण पैदा होने वाली यह समस्या परेशान कर देती है। खासतौर पर तैलीय बालों में तो और भी ज्यादा चिपचिपाहट होती है। तो आइए जानते हैं तैलीय बालों की देखभाल के कुछ टिप्स जिन्हें अपनाकर आप चिपचिपे बालों से राहत पा सकते हैं

 If you are troubled by the stickiness of oily hair, then know 5 tips that you may be unaware of

loading...
  1. बरसात के मौसम में तैलीय ग्र‍ंथि‍यां ज्यादा सक्रिय होती हैं, जिसके कारण सीबम के सिर की त्वचा पर जमने से बाल चिपचिपे हो जाते हैं । ऐसे में सिर की सफाई पर विशेष ध्यान दें और हर दूसरे दिन शैंपू करते रहें।

  2. बालों के लिए माइल्ड शैंपू का इस्तेमाल करें। इसके अलावा आप घर पर नींबू के रस को एक मग में लेकर शैंपू करने के बाद बालों में लगाएं। इससे बालों की चमक बनी रहेगी और डेंड्रफ की समस्या नहीं होगी।

  3. बालों से अतिरिक्त नमी हटाने के लिए आप बेसन और दही मिलाकर सिर की त्वचा पर लगा सकते हैं। इससे सिर की त्वचा पर थोड़ी देर मालिश करने के बाद साफ पानी से धो लें।

4. गुलाबजल को रूई की सहायता से बालों की जड़ों में लगाएं, इससे अतिरिक्त तैलीयता कम होगी। इसके अलावा 3 चम्मच बेसन, 2 चम्मच  आंवला पाउडर, एक चम्मच सफेद सिरका और कुछ स्ट्रॉबेरी को पीस कर एक साथ बालों में अच्छी तरह से लगाएं, और कम से कम आधा घंटा रखने बाद धो लें।
5. बालों में शैंपू करने के एक घंटे पहले, अंडे की सफेदी लगा सकते हैं। इसकी गंध से बचने के लिए, अप इसमें थोड़ा-सा नींबू भी मिला सकते हैं। बालों की कंडिशनिंग के लिए यह एक बेहतर विकल्प है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.