अगर होती है रोज एसिडिटी तो यह घरेलु उपचार फायदा देगा

531

आज के समय में किसी को भी एसिडिटी होना आम बात है. क्योकि ऐसी व्यस्त लाइफ में एसिडिटी होती ही है. जिसके कई कारण है. खाने के बाद डाइरेक्ट बिस्तर पर लेट जाना,पानी कम पीना, जंक फ़ूड,या दफ्तर में खाना खाने के बाद वापस चेयर पर बैठ जाना ये सब एसिडिटी के कारण हो सकते है.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

एसिडिटी के लक्षण

1 . भूख कम लगना

2 . सीने में जलन होना

loading...

3 .पेट में जलन होना

4 . खट्टी डकार आना आदि

यदि आपको भी इस तरह के कोई लक्षण दिखाई दे तो बिना लापरवाही किये. इसका इलाज कर लेना चाहिए. क्योकि यह एक ऐसी समस्या है. जिसे समय रहते हल नहीं किया जाए तो यह अपनी जड़ बना लेती है. और मुश्किल से ठीक होती है.

इसलिए आज हम आपको बताने वाले है. ऐसे कुछ घरेलु नुस्खे जिन्हे अपनाकर आप एसिडिटी को ख़त्म कर सकते है साथ ही इस समस्या के होने से पहले ही इससे छुटकारा पा सकते है. तो आइये जानते है ये घरेलु उपाय.

1 . इलाइची – दिन में दो बार ज्यादा नहीं बस सुबह शाम एक एक इलाइची का आप सेवन करे. इस समस्या से जल्दी निजात मिलेगी.

2 . अश्वगंधा – यह एक ऐसी औषधि है जो भूख को बढाती है. इसका सेवन एसिडिटी के मरीजों को जरूर करना चाहिए.

3 . हरड़ – यदि आप एसिडिटी की समस्या से जूझ रहे है. और महँगी दवाइयों से तंग आ गए है तो एक बार हरड़ का सेवन जरूर करे. फायदा 100% मिलेगा.

4 . चन्दन – चन्दन कुदरत की दी हुई एक अनमोल बूटी है. जिसका कई कार्यो में उपयोग किया जाता है. एसिडिटी के रोगी चन्दन का स्तेमाल जरूर करे इससे ठंडक के साथ साथ राहत भी मिलेगी.

5 . सौंफ – सौंफ को औषधि के रूप में प्रमुख स्थान दिया जाता है. ग्रंथो में भी कहा गया है कि खाना के बाद सौंफ जरूर खाना चाहिए. इससे पाचन हमेशा सही रहता है.

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.