कँही आलू आपके लिए नुकसानदेह तो नहीं है..?, जानिए आलू के फायदे और नुकसान

329

आलू सबसे आम और महत्वपूर्ण भोजन स्रोतों में से एक है और अपने स्वास्थ्य लाभ के कारण यह पूरे विश्व में एक प्रमुख आहार के रूप उपयोग किया जाता है। आलू सबसे ज्यादा एंडिस, पेरू और बोलिविया में पाए जाते हैं। आलू पहली बार 7,000 वर्ष पहले मध्य अमरीकी और दक्षिण अमरीकी क्षेत्र में उगाए गये थे। इनका वैज्ञानिक नाम है सोलनम ट्यूबरोसम (Solanum Tuberosum)।आलू खाने में तो स्वादिष्ट होते ही हैं, इनमें कई औषधीय गुण भी होते हैं। आलू पौष्टिक तत्वों से भरा होता है। आलू में सबसे अधिक मात्रा में स्टॉर्च पाया जाता है।

पोटेशियम और विटामिन ए और सी भी पर्याप्त मात्रा में होता है। इसके अलावा आलू में मैग्नीशियम, फास्फोरस,आयरनऔर ज़िंक भी होता है। आलू के कार्बोहाइड्रेट औरप्रोटीन, ग्लूकोज और एमिनो एसिड में बदल कर शरीर को तुरंत शक्ति देते हैं। इसके अलावा आलू में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट भी पाए जाते हैं जो फ्री रेडिकल से होने वाले नुकसान से शरीर की रक्षा करते हैं।

आलू के फायदे और नुकसान

नुकसानदेह नहीं काफ़ी फायदेमंद है आलू

आलू को भारत में सब्ज़ियों का राजा माना जाता है. अमेरिका के पेरु शहर में सबसे पहले उगा ‘आलू‘ सारी दुनिया घूमता हुआ भारत में आकर सब्जियों का सिरमौर बन गया. भारत में इसे काफी पसंद किया जाता है क्योंकि इसे किसी भी मौसम में और कई तरह से बनाया जा सकता है.

आलू के नुकसान:

ग्लाइसिमिक मील मानने के कारण, आलू का सेवन ब्लड शुगर में नुकसान करता है. इस कारण शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ सकती है.

आलू का नियमित सेवन वजन बढ़ाने में सहायक होता है। इसका मुख्य कारण आलू को बनाने में लगने वाला तेल, घी और मक्खन होता है.

आलू में स्टार्च के अधिक होने के कारण इसे खाने से पेट में गैस ज़्यादा बनती है.

कुछ लोग आलू के सेवन से जोड़ों का दर्द और सूजन का बढ़ना भी मानते हैं.

हरे आलू का सेवन करना हानिकारक होता है।

आलू के फायदे:

आलू में बहुत सारे न्यूट्रिएंट्स जैसे विटामिन सी, बी कॉम्पलेक्स, आयरन , कैल्शियम, मैंगनीज, फास्फोरस आदि तत्त्व होते हैं, जिनके कारण इसका विभिन्न रोगों के इलाज में भी इसका उपयोग किया जाता है-

ब्लड प्रेशर कम करने में सहायक

loading...

आलू में फाइबर और पोटेशियम होने के कारण यह शरीर का ब्लड प्रेशर कम करने में सहायक होता है.

मस्तिष्क और नर्वस सिस्टम की सेहत में सुधार:

आलू में विटामिन बी 6 और कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बहुत अधिक होती है.  इस कारण इसके सेवन से जहां एक और मांसपेशियों में मजबूती बनी रहती है वहीं मस्तिष्क की नसों की सेहत भी ठीक रहती है.  वैज्ञानिकों के अनुसार आलू खाने से डिप्रेशन, स्ट्रैस व दूसरी मस्तिष्क संबंधी बीमारियों में कमी आती है.

इम्यूनिटी बढ़ाता है:

आलू में विटामिन सी होता है जो शरीर की इम्यूनिटी को मजबूत रखता है और कोल्ड व कफ जैसी बीमारियों से भी बचाव करता है.

जोड़ों की सूजन कम करता है:

2011 में आई एक रिपोर्ट के अनुसार आलू जोड़ों में सूजन यानि अर्थराइट्स जैसी बीमारियों को रोकने में मदद करता है.

डाइजेशन में आसानी:

हाई फाइबर प्रॉडक्ट होने के कारण आलू पचने में आसान होता है.

दिल की सेहत में सुधार

आलू में मिलने वाले न्यूट्रिएंट्स जैसे फाइबर, विटामिन बी 6 और विटामिन सी दिल की सेहत को तंदुरुस्त रखते हैं और हार्ट अटैक को रोकने में मदद करते हैं.

खिलाड़ियों के लिए लाभकारी

आलू खिलाड़ियों की सेहत को बनाए रखने में मदद करता है. पसीने के संग बहने वाले सोडियम और पोटेशियम जैसे न्यूट्रीएंट आलू में बहुत होते हैं. इसके सेवन से खिलाड़ी नसों की परेशानी से बचे रहते हैं.

स्किन केयर

त्वचा की सेहत को बनाने में, आलू के न्यूट्रीएंट विटामिन सी, बी 6, पोटेशियम, मैग्नीशियम, ज़िंक और फास्फोरस बहुत ज्यादा मदद करते हैं.

कुछ अन्य लाभ-:

  1. आलू में मौजूद विटामिन सी, पोटेशियम, विटामिन-बी6 और अन्य खनिज, आंतडों और पाचन तंत्र में हुई सूजन को घटाते हैं।

  2. आलू मुँह में छालों की समस्या में बहुत फायदेमंद होता हैं, इसीलिए आलू का सेवन जरूर करें।

  3. आलू खाने से हमारे दिमाग का अच्छा विकास होता हैं, क्योंकि शरीर में मौजूद ग्लूकोज के स्तर, ऑक्सीजन की पूर्ति, विटामिन बी कॉम्प्लेकस में मौजूद कुछ तत्वों, हार्मोन, एमिनों ऐसिड और फैटि एसिड जैसे ओमेगा-3 पर निर्भर करता हैं। और आलू में ये सारे पोषक तत्व होते हैं।

  4. उबले हुए आलू पर नमक ड़ालकर खाने से हम वजन भी कम कर सकते हैं।

5.. पथरी में भी आलू का सेवन काफी मददगार साबित होता हैं।

  1. फ्री रैडकल्स जो कि कैंसर का मुख्य कारण होता हैं, उसे आलू में मौजूद कैरटिनाॅयड और फाइटोन्यूट्रीअन्ट खत्म कर देते हैं।

  2. आलू में मौजूद विटामिन्स और प्रोटीन हमारे शरीर में नई कोशिकाओं को बनाते हैं।

  3. अगर आप टेंशन में हैं, तो आलू खाना आपके लिए अनिवार्य हैं, क्योंकि आलू खाने से तनाव दूर होता हैं।

इन बीमारियों में आलू का सेवन न करें

वात विकार, अफारा और कब्ज की विकृति होने पर आलू का सेवन न करें। इसके अलावा अतिसार, प्रवाहिका, बवासीर रोग में भी आलू का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ बवासीर रोगी को भी आलू का सेवन करने से बचना चाहिए। इससे बवासीर में अधिक खून निकलने लगता है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.