Hepatitis B के लक्षण और बचाव

0 339

Hepatitis B (हेपेटाइटिस बी) यह एक Viral संक्रामक रोग है जो की Hepatitis B virus के कारण फैलता हैं। सामान्य भाषा में इस रोग को लोग Jaundice या पीलिया भी कहते हैं। Hepatitis B से पीड़ित कई मरीजों को लंबे समय तक कोई तकलीफ न होने के कारण इसका पता भी नहीं चलता हैं। Hepatitis B  के संक्रमण के कारण हरवर्ष लिवर (Liver) ख़राब हो जाने के कारण 4 हजार से 5 हजार लोगों की मृत्यु हो जाती हैं। विश्व में लिवर कैंसर के 60% मामले Hepatitis B के कारण होते हैं।

भारत में हर वर्ष लाखों लोगो को Hepatitis B का संक्रमण होता हैं। इनमे से ज्यादातर लोगों में यह संक्रमण कुछ समय के लिए होता है और फिर ठीक हो जाता हैं। इसे तीव्र (Acute) Hepatitis B कहा जाता हैं। कुछ लोगो में यह संक्रमण लंबे समय तक रहता है जिसे जीर्ण (Chronic) Hepatitis B कहा जाता हैं।

Hepatitis B के कारण, लक्षण और निदान संबंधी अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

Hepatitis B का कारण

Hepatitis B यह एक Viral रोग है जो की Hepatitis B नामक virus से फैलता हैं। यह संक्रमित व्यक्ति के रक्त (Blood) और शारीरिक तरल पदार्थ (Body Fluids) के संपर्क में आने से फैलता हैं।

Hepatitis B के फैलने की अधिक जानकारी निचे दी गयी हैं :

Hepatitis B से संक्रमित व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध।
Hepatitis B से संक्रमित सुई / ब्लेड / उपकरण का इस्तेमाल करना।
निर्जंतुक (sterilized) न किये हुए उपकरणों से Tattoo या कान छिदवाना।
दाढ़ी की ब्लेड या टूथब्रश जैसा व्यक्तिगत सामान संक्रमित व्यक्ति के साथ इस्तेमाल करना।
गर्भावस्था में प्रसव (delivery) के समय संक्रमित माता से शिशु को Hepatitis B हो सकता हैं।
Blood Transfusion या Organ Transplant करते समय ठीक से जांच न किये जाने पर Hepatitis B फ़ैल सकता हैं।
ध्यान रहे की गले मिलना, हाथ मिलाना, खांसी या छींकने से Hepatitis B नहीं होता हैं।

Hepatitis B के लक्षण

Hepatitis B के अधिकतर मरीजों में काफी समय तक कोई लक्षण नजर न आने के कारण उन्हें पता भी नहीं रहता है की वह इस रोग से पीड़ित हैं। Hepatitis B के सामान्य लक्षणों में शामिल हैं :

भूख कम लगना
चमड़ी और आँख का रंग पिला होना
पेशाब का रंग पिला / लाल होना
कमजोरी
सिरदर्द
बुखार
पेटदर्द
जी मचलाना
उलटी
खुजली
जीर्ण Hepatitis B से पीड़ित ज्यादातर रोगियों में इनमे से कोई लक्षण नहीं होता हैं।

Hepatitis B का निदान

Hepatitis B से पीड़ित ज्यादातर मरीजों में कोई लक्षण नजर न आने के कारण Hepatitis B का निदान कभी-कभी किसी अन्य कारण से किये हुए रक्त जांच में पता चलता हैं। कभी किसी ऑपरेशन के समय या गर्भावस्था के समय किये हुए जांच में Hepatitis B का पता चल जाता हैं।

Hepatitis B का निदान करने के लिए, पीड़ित में Hepatitis B के लक्षण नजर आने पर डॉक्टर निचे दिए जुए जांच करते हैं :
रक्त जांच (Blood Test) – Hepatitis B का निदान करने के लिए डॉक्टर HBsAg रक्त जांच किया जाता हैं। इस रक्त जांच से पीड़ित को Hepatitis B है या नहीं यह पता चलता है और अगर है तो यह संक्रमण ताजा है (IgM) या लंबे समय (IgG) से हैं यह भी जानकारी प्राप्त होती हैं।
Liver Biopsy – अगर डॉक्टर को Hepatitis B के कारण लिवर ख़राब होने की आशंका होती है तो लिवर की स्तिथि जानने के लिए लिवर biopsy की जाती हैं।
HBeAg – Hepatitis B की तीव्रता जांचने के लिए यह जांच की जाती हैं।
Liver Function Test : Hepatitis B के कारण लिवर पर क्या असर हुआ है यह जानने के लिए यह जांच की जाती हैं।
Ultrasound Scan – Hepatitis B के कारण लिवर की स्तिथि कैसी है यह जानने के लिए डॉक्टर पेट की सोनोग्राफी करने की सलाह देते हैं।
Polymerase Chain Reaction (PCR) Test – Hepatitis B के वायरस का रक्त में Viral load जानने के लिए और उपचार निर्धारित करने के लिए यह जांच की जाती हैं।
Hepatitis B का निदान हो जाने पर इस वायरल संक्रामक रोग से लिवर को बचाने के लिए और अपने कारण यह रोग किसी ओर को न फैले यह सावधानी बरतना जरुरी हैं।
Hepatitis B का उपचार और बचने के उपाय जानने के लिए पढ़े – Hepatitis B का उपचार और बचने के उपाय !

आपसे अनुरोध है कि आप आपने सुझाव, प्रतिक्रिया या स्वास्थ्य संबंधित प्रश्न निचे Comment Box में या Contact Us में लिख सकते है !

अगर आपको यह लेख उपयोगी लगता है और आप समझते है की यह लेख पढ़कर किसी के स्वास्थ्य को फायदा मिल सकता हैं तो कृपया इस लेख को निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook , Whatsapp या Tweeter account पर share जरुर करे !

Sab Kuch Gyan से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे…

loading...

loading...