कोरोना अवधि के दौरान स्वास्थ्य बीमा हो जायेगा महंगा, बीमा प्रीमियम 15% बढ़ने की उम्मीद

262

मुंबई: कोरोना महामारी की एक और लहर के बीच, आम जनता एक और हिट ले सकती है। स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी महंगी हो सकती हैं। बीमा कंपनियों को अब तक कोरो मामलों से संबंधित 14,000 करोड़ रुपये के दावे मिले हैं। कंपनियों को लगता है कि कोरोना महामारी जारी रह सकती है, इसलिए आगे और भी दावे होंगे।

कुछ मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, सभी बीमा कंपनियों ने बीमा नियामक IRDAI से संपर्क कर स्वास्थ्य बीमा प्रीमियम में 10 प्रतिशत वृद्धि की मांग की है। बीमा कंपनियां कोविड -19 उपकर के नाम पर प्रीमियम बढ़ाना चाहती हैं। कंपनियों का तर्क है कि कोविड -19 मामलों में वृद्धि के बाद उनके दावे आसमान छू गए हैं। उल्लेखनीय है कि देश में हर दिन कोरोना के 2 लाख से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। महाराष्ट्र, दिल्ली, एमपी और यूपी सहित कई राज्यों में स्थिति बिगड़ रही है।

loading...

यदि IRDAI बीमा कंपनियों की सिफारिश को स्वीकार करता है, तो लोगों की जेब पर इसका सीधा प्रभाव पड़ेगा। स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी महंगी हो सकती हैं। यह उल्लेखनीय है कि कोरोना के कारण बीमा दावों में वृद्धि हुई है, लेकिन बीमा कंपनियों ने प्रीमियम में वृद्धि नहीं की है, जिसने उन पर बहुत दबाव डाला है।

बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस के प्रमुख गुरदीप साहा बत्रा का कहना है कि कोरोना अवधि के दौरान बीमा कंपनियों को कई दावों का भुगतान करना पड़ता है। उपचार अधिक महंगा होता जा रहा है और बढ़ता रहेगा। चिकित्सा मुद्रास्फीति (चिकित्सा क्षेत्र से जुड़ी सेवाओं और उत्पादों की बढ़ती कीमतें) एक प्रमुख कारण है कि स्वास्थ्य बीमा नीतियां अधिक महंगी हो गई हैं। अस्पतालों में उपचार की लागत बढ़ गई है, कंपनियों को कोविद -19 के कारण और अधिक दावे करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.