भगवान से कम नहीं है ये आदमी पेंशन से रोजाना 100 भिखारियों को खिलता है खाना

414

पूरी दुनिया में कई लोग हैं जो नेक काम करने में हमेशा आगे रहते हैं। वैसे, ऐसे कई लोग हैं जो इस समय कोरोनावायरस महामारी के कारण खाने के लिए भी परेशान हो रहे हैं। उनके पास खाने के लिए भी नहीं है। इस बीच, कई महान लोग मसीहा के रूप में आगे आए हैं। हाल ही में हम आपको एक ऐसे ही युवा के बारे में बताने जा रहे हैं। दरअसल, हम बात कर रहे हैं रिटायर्ड इंजीनियर की। वह अपनी पेंशन के पैसे से आंध्र प्रदेश के भिखारियों को खाना खिला रहा है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

loading...

वैसे, हम आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम जिले में जीवन के बारे में बात कर रहे हैं। उनका नाम सीवीएन मूर्ति है जो एक ट्रस्ट के सहयोग से यह काम कर रहे हैं। वह एक सेवानिवृत्त इंजीनियर हैं और वह लगभग 2 वर्षों से क्षेत्र के गरीब लोगों को भोजन प्रदान कर रहे थे। आपको बता दें कि अतीत के तालाबंदी में भी, उन्होंने सैकड़ों भिखारियों को भोजन भेजा है। हां, इसके साथ मिली जानकारी के अनुसार, जब धीरे-धीरे तालाबंदी खत्म होने लगी, तो ज्यादातर लोगों ने भिखारियों को खाना भेजना बंद कर दिया। उस समय, जिले के इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी (IRCS) के लोगों ने मूर्ति जी से संपर्क किया।

God is not less than this man feeds 100 beggars daily with pension भिखारियों

 

उन्होंने इस बारे में बताया कि मंदिरों के बाहर बैठे ज्यादातर भिखारियों और कुष्ठ रोगियों को अब भोजन नहीं मिल रहा है। उन्हें मिलने वाली मदद लगभग बंद हो गई है। तब मूर्ति ने अपनी पेंशन से 50 हजार रुपये दान किए और उसकी मदद करने का फैसला किया। बताया गया है कि इन पैसों की मदद से हर दिन लगभग 100 लोगों को खाना खिलाया जा रहा है। इससे जिले के ट्रस्ट और रेडक्रॉस सोसायटी के लोग भिखारी और कुष्ठ रोगियों के पास पहुंच रहे हैं।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.