देसी नुस्खे से जुओं की प्रोब्लम से छुटकारा पायें

0 19

जुओं की प्रोब्लम ज़्यादातर 3 से 12 वर्ष के बच्चों में पाई जाती है। लेकिन यह प्रॉब्लम किसी को भी परेशान कर सकती है। जुओं का आहार और खान पान मनुष्य का रक्त होता है। वह जिसके सिर में रहती हैं उसका रक्त पीकर जीती हैं।  इनकी उपस्थिति शरीर में रक्त की कमी का कारण बन सकती हैं| इनके कारण बच्चे चिडचिडे हो जाते है उनका मन किसी भी कम में नहीं लगता |

जुएँ क्या हैं ?
जुएँ बहुत ही महीन, पंख रहित कीड़े होते हैं जो सिर में आसानी से नज़र नहीं आते। वे भूरे और स्लेटी रंग की होती हैं और हर जूँ की लम्बाई चौड़ाई एक तिल से ज़्यादा नहीं होती। सिर की जुएँ, माता पिता, बच्चों, स्कूल और स्वास्थ्य की देखभाल करनेवालों की सहायता से नियंत्रण में की जा सकती हैं।

जुएँ कैसे फैलती हैं
सिर की जुएँ एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में सीधे संपर्क में आने के कारण स्थानांतरित होती हैं। संदूषित कंघियाँ और हेयर ब्रश इस्तेमाल करने से, या संदूषित चद्दरें, तौलिये या शावर कैप मिल बाँट कर इस्तेमाल करने से सिर की जुएँ फैलती हैं।

सिर में जुएँ होने के लक्षण
बालों में किसी चीज़ के चलने का एहसास।
जुओं के काटने के कारण सिर में खुजली का एहसास।
जुओं के काटने से सिर में घाव, जो कभी कभी संक्रमित हो सकते हैं।

सिर के जुओं का घरेलू और आयुर्वेदिक उपचार

    1. अमरुद के पत्तों को पीसकर हल्दी के साथ मिलाकर मिश्रण बना लें और नहाने से दो घंटे पहले सिर पर मल दें। इससे आपको जुओं से छुटकारा मिल जायेगी।
    2. नीम के पत्तों को पीसकर नहाने से 2 घंटे पहले सिर पर लगाने से भी जुओं से छुटकारा मिलता है।
    3. निबौली (नीम का तैल), सरसों या माजूफल का तेल लगाने से या अरिठे का फेन लगाने से जूँ और लीखें मर जाती हैं।
    4. तुलसी के पत्ते पीसकर सिर पर लगा लें, उसके बाद सिर पर कपड़ा बांध लें। सारी जुएँ मरकर कपडे से चिपक जायेंगी, और ऐसा दो तीन बार करने से पूर्ण रूप से जुएँ साफ़ हो जायेंगी।
    5. आधा चम्मच काली मिर्च का पाउडर और एक कप दही दो चम्मच नींबू के रस के साथ मिलाकर, नहाने से 20 मिनट पहले सिर पर लगाने से सिर की जुओं का पूर्ण रूप से खात्मा होता है। पर एक बात याद रखें कि नहाते वक़्त अपनी आँखें बंद रखें वर्ना काली मिर्च का पाउडर आपकी आँखों को जलन से परेशान कर सकता है।
    6. नींबू के टुकड़े को सिर पर रगड़ने से या नींबू का रस नारियल के तेल के साथ मिलाकर सिर पर लगाने से भी जुएँ पूर्ण रूप से नष्ट हो जाती हैं।
    7. नीम के पत्ते और तुलसी के पत्ते तकिये के नीचे रखने से जुओं की समस्या काफी हद तक ख़तम हो जाती है।
    8. लहसून का कसैला स्वाद भी जुओं को मारने में सहायक सिद्ध होता है। नहाने से पहले लहसून की लेई नींबू के रस के साथ मिलाकर सिर पर लगाने से भी जुओं को नष्ट करने में मदद मिलती है।
    9. सिरके से बालों को नियमित धोने से भी 2 दिन के अंदर जुएँ नष्ट हो जाती हैं।
    10. तीन चम्मच नींबू रस को एक चम्मच मक्खन में मिलाकर अपने बालों में 15 मिनट के लिये लगाकर रखें। उसके बाद बालों को धो दें। यह जुओं के लिये बहुत ही आसान उपचार है।

बचाव
घर की साफ़ सफाई बनाये रखें। बालों की कंघियों और हेयर ब्रश की नियमित रूप से सफाई करें। जुओं से ग्रस्त व्यक्ति के द्वारा इस्तेमाल की गयी चद्दरें, तकियों के आवरण वगैरह गर्म पानी से वॉशिंग मशीन में अच्छी तरह धोएं। हो सके तो घर की सफाई वैक्यूम क्लीनर से करें।
सिर के जुओं का इलाज जल्द से जल्द करना चाहिये क्योंकि अगर ऐसा नहीं किया गया तो यह बालों की जड़ों को कमज़ोर कर सकती हैं, जिससे खुजली और बालों के झड़ने की संभावना हो सकती है।

Sab Kuch Gyan से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे…

loading...

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.