लहसुन है गुणों की खान

147
वैसे तो सामान्य रूप से भारतीय खाने में अधिकांश लोग लहसुन रोजाना ही थोड़ा बहुत लेते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि ये आपको कितनी बीमारियों से बचाता है। शास्त्रों के अनुसार लहसुन को वैसे तो तामसिक यानी काम व गुस्से की भावना बढ़ाने वाला माना गया है। लेकिन लहसुन के औषधिय गुण इन बुराईयों से कही अधिक बढ़कर हैं। ये गुण ऐसे हैं जिन्हें बहुत कम लोग जानते हैं। हम आपको आज बताने जा रहे हैं लहसुन के ऐसे ही गुणों के बारे में….
लहसुन में पाए जाने वाले तत्व – लहसुन में प्रोटीन 6.3 प्रतिशत,वसा 0.1 प्रतिशत, कार्बोज 21 प्रतिशत, खनिज पदार्थ- 1 प्रतिशत, चूना 0.3 प्रतिशत तथा लोहा1.3 मिलीग्राम प्रति 100 ग्राम होता है। इसके अतिरिक्त विटामिन ए, बी, सी एवं सल्फ्यूरिक एसिड विशेष मात्रा में पाई जाती है।
मुहांसों का पक्का इलाज – मुंहासों से परेशान लोगों के लिए ये काफी कारगर साबित होता है। इसे खाने से खून साफ होता है।गला खराब होने पर गुनगुने पानी में लहसुन का रस मिलाकर गरारा करने से राहत मिलती है। मौसम में बदलाव आने के साथ इसके सेवन की मात्रा में भी बदलाव करें सर्दी के मौसम में लहसुन का अधिक मात्रा में सेवन किया जा सकता है। लेकिन गर्मी के मौसम में इसका अधिक मात्रा में सेवन ना करें। लहसुन को आप कच्चा भी खा सकते हैं।
कैंसर से रक्षा करता है- कैंसर को एक लाइलाज बीमारी माना जाता है। लेकिन शायद आपको ये जानकर आश्चर्य होगा कि आयुर्वेद के अनुसार रोजाना थोड़ी मात्रा में लहसुन का सेवन करने से कैंसर होने की संभावना अस्सी प्रतिशत तक कम हो जाती है।कैंसर के प्रति शरीर की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है। लहसुन में कैंसर निरोधी तत्व होते हैं। यह शरीर में कैंसर बढऩे से रोकता है। लहसुन के सेवन से ट्यूमर को 50 से 70फीसदी तक कम किया जा सकता है।
कफ में लहसुन लाभदायक – ठंड या बदलते मौसम में अक्सर किसी भी उम्र के लोगों को कफ और जुकाम जैसी परेशानी हो जाती हैं। ऐसे में अगर आप लहसुन का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो आप ऐसी छोटी-छोटी समस्याओं से बड़ी ही आसानी से निजात पा सकते हैं।
कॉलेस्ट्रोल को कम करता है- कॉलेस्ट्रोल की समस्या से परेशान लोगों के लिए लहसुन का नियमित सेवन अमृत साबित हो सकता है। कॉलेस्ट्रोल की समस्या से पीडि़त लोगों के लिए लहसुन किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं है। रोजाना इसे खाने से आपका कॉलेस्ट्रोल लेवल 12 प्रतिशत तक कम हो सकता है।इसे खाने से दिल की बीमारियों को दूर रखा जा सकता है।
एंटीबायोटिक की तरह असरदार- लहसुन में एंटीबायोटिक दवाओं से अधिक गुण हैं, जिसकी वजह से वह रोगाणुओं का नाश करती है। यही कारण है कि घाव धोने के लिए लहसुन के एक भाग रस में तीन भाग पानी मिलाकर काम में लिया जाता है। चाय में अदरक के साथ लहसुन की दो पिसी कलियां मिलाकर पीने से अस्थमा की परेशानी को कम किया जा सकता है।
गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद- गर्भवती महिलाओं को लहसुन का सेवन नियमित तौर पर करना चाहिए। गर्भवती महिला को अगर उच्च रक्तचाप की शिकायत हो तो, उसे पूरी गर्भावस्था के दौरान किसी न किसी रूप में लहसुन का सेवन करना चाहिए।
विटामिन सी की कमी होने पर- जिनके शरीर में रक्त की कमी है, उन्हें लहसुन का सेवन अवश्य करना चाहिए, इसमें पर्याप्त मात्रा में लौह तत्व होता है जो कि रक्त निर्माण में सहायक होता है। लहसुन में विटामिन सी होने से यह स्कर्वी रोग से भी बचाता है।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.