पीरियड्स के दर्द से तुरंत छुटकारा पाने के लिए अपनांए ये 3 तरीके

0 536

पीरियड का समय महिलाओं के लिए अत्यंत कष्टदाई होता है। इससे महिलाओं में चिड़चिड़ापन डिप्रेशन एवं शारीरिक दर्द होता है। जिससे महिलाएं थकावट एवं सुस्ती महसूस करती है लेकिन मैं आपको कुछ ऐसे तरीके पाऊंगा जिससे महिलाओं को शारीरिक शक्ति मिलेगी एवं पीरियड्स के समय दर्द भी कम होगा।

पीरियड्स के समय अधिक दर्द होने पर पेट व कमर के बीच के हिस्से को गर्म पानी की थैली से सिकाई करनी चाहिए एवं गर्म पानी से नहाना चाहिए। इससे पीरियड टाइम के दर्द में आराम मिलता है।

हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए इनमें एंटी ऑक्सीडेंट एंड विटामिंस मिनरल्स इत्यादि पाए जाते हैं। जो कि हमारे शरीर में खून की कमी को पूरा करते हैं एवं पीरियड टाइम के दर्द से लड़ने में मदद मिलती है।

पीरियड के समय महिलाओं को अदरक वाली चाय का अधिक सेवन करना चाहिए यह शरीर में नमी बनाए रखती है तथा रक्त की कमी को दूर कर पीरियड में अहम भूमिका निभा सकती है।

पीरियड्स के दिनों में महिलाओं को दर्द क्यों होता हैं

ज्यादातर अगर लड़की को 11 साल के उम्र से ही periods  शुरू हुए, तो उनको यह दर्द हो सकता है.

पीरियड्स के दौरान स्त्राव होना ये भी दर्द का कारण है.

कई महिलाओ को समय पर पीरियड्स नहीं आते इस वजह से भी उनमें अधिक दर्द होता है.

गर्भाशय का मुख अगर छोटा होने से स्त्राव को रोककर रकता है जिससे अधिक दर्द होता है.

अगर पीरियड्स में अधिक ही दर्द होता है तो आप डॉक्टर से सलाह ले.

एलोवेरा जूस में शहद मिलाकर पीने से पीरियड्स में होने वाला दर्द कम हो जाता है और फ्लो ठीक रहता है

पीरियड्स के दिनों में ये गलतियाँ ना करें

आयरन का सही मात्रा में न लेना – जैसा कि हम सभी जानते हैं कि पीरियड्स के टाइम पर ब्लड शरीर से बाहर आता है तो इसीलिए महिलाओं में खून की कमी की वजह से एनेमिया की दिक्कत हो जाती है। इसीलिए पीरियड्स के दौरान महिलाओं को भरपूर मात्रा में आयरन युक्त चीज़ो का सेवन करना चाहिए।

नेपकिन को लेकर न बरतें लापरवाही – पीरियड्स के दौरान हर तीन घण्टे पर नैपकिन बदलना चाहिए जिसकी वजह से दुर्गंध से भी बचा जा सकता है।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply