पता करें कि क्या आपका सैनिटाइजर मिलावटी या नहीं है

0 569

आज भी पूरी दुनिया में COVID-19 महामारी का कहर जारी है। सामाजिक गड़बड़ी का पालन करना, मास्क पहनना, अक्सर हाथों को साफ करना और टीकाकरण प्रणाली विकसित होने तक टीकाकरण प्रणाली को मजबूत करना बहुत महत्वपूर्ण है। COVID-19 महामारी के कारण सेनिटाइज़र हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए हैं। हम COVID-19 वायरस से लड़ने के लिए सैनिटाइज़र को एक ढाल के रूप में उपयोग करते हैं।

जब हम बाहर काम करने जाते हैं या जब हम सार्वजनिक परिवहन से यात्रा करते हैं तो हमने सैनिटाइज़र का उपयोग किया था। COVID-19 के प्रकोप के बाद से सैनिटाइज़र की मांग रोज़ बढ़ रही है। कुछ कंपनियों ने इन शर्तों का फायदा उठाना शुरू कर दिया है। सैनिटाइज़र के नाम पर बाज़ार में बहुत सारे साग और मिलावटी उत्पाद बेचे जा रहे हैं।

Find out if your sanitizer is adulterated or not मिलावटी

कुछ मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, बाजार को कई तरह के सैनिटाइज़र मिल रहे हैं,

कुछ का दावा है कि यह 99.9% वायरस को मार सकता है।

कई कंपनियों का कहना है कि उनका सैनिटाइज़र अल्कोहल-आधारित है।

हम COVID-19 वायरस से बचने के लिए सभी अल्कोहल-आधारित सैनिटाइज़र का उपयोग कर रहे हैं।

लेकिन क्या आपने सोचा है कि आप सही सैनिटाइज़र का उपयोग कर रहे हैं या नहीं? क्या सैनिटाइज़र का कोई दुष्प्रभाव है? क्या सैनिटाइज़र आपकी त्वचा के अनुरूप है?Find out if your sanitizer is adulterated or not मिलावटी

कई घटिया और मिलावटी सैनिटाइज़र इस समय बाजार में बेचे जा रहे हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि सैनिटाइजर खरीदते समय इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए।

सैनिटाइज़र में एथिल अल्कोहल की मात्रा अच्छी होती है

अगर यह 70 प्रतिशत से अधिक हो। कभी-कभी शराब से हाथ सूख सकते हैं। इसलिए, ग्लिसरीन के साथ सैनिटाइज़र अच्छा है। जिन लोगों को अक्सर एलर्जी होती है, उन्हें सैनिटाइजर का उपयोग नहीं करना चाहिए। इन बातों का ध्यान रखना आवश्यक है।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply