द्रौपदी द्वारा की गयी ये 3 वजह बनी महाभारत युद्ध का बड़ा कारण

454

कुछ मनुष्य का स्वभाव इस प्रकार का होता है कि वो अपने शत्रु से प्रतिशोध लेने में इतना खो जाता है कि वो उसके बाद का परिणाम नही सोचता। और हकीकत यह है कि यदि परिणाम के बारे में पहले ही विचार कर ले तो कोई अप्रिय घटना ही क्यों होगी। मित्रों महाभारत युद्ध के पश्चात कुरुक्षेत्र के आस पास सिर्फ विधवा स्त्रियां और उनके रोते बिलखते बच्चे ही नजर आ रहे थे। यह दृश्य देखकर द्रौपदी अत्यंत दुखी हो गयी। तभी वहां भगवान श्रीकृष्ण आ गए और उनसे उनके दुखी होने का कारण पूछा।

द्रौपदी ने दुखी होकर श्रीकृष्ण से कहा प्रभु मैं अपने राज्य की ऐसी स्थिति देखकर अत्यंत दुखी हूं। मैंने जीवन में नही सोचा था कि युद्ध के बाद ये दृश्य देखना पड़ेगा। भगवान श्रीकृष्ण ने द्रौपदी से कहा अगर तुम अपने जीवन मे यह तीन गलतियां न करती तो शायद महाभारत होता ही नही।

Due to Draupadi, these 3 causes of the Mahabharata war caused great cause

भगवान श्रीकृष्ण जी ने बताया यदि तुम अपने स्वयंवर में कर्ण को बेवजह अपमानित न करती और कर्ण को भी स्वयंवर की प्रतियोगिता में भाग लेने देती तो कर्ण में प्रतिशोध की भावना न उत्पन्न होती।

Due to Draupadi, these 3 causes of the Mahabharata war caused great causeश्रीकृष्ण ने कहा जब अर्जुन के साथ विवाह करने के बाद जब कुंती के समक्ष लाया गया तब तुम्हे कुंती की बात का विरोध नही किया था। यदि तुम ऐसा करती तो भी आज शायद परिणाम कुछ और होते ।

draupadiतुमने अपने महल में दुर्योधन को अपमानित और उसका उपहास उड़ाया, जो किसी भी दशा में उचित नही कहा जा सकता। इस कारण उसने मन में प्रतिशोध लेने का मन बना लिया था। इसी कारण तुम्हारा चीरहरण हुआ।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

loading...

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.