कुंडली में ग्रहों की स्थिति के अनुसार करें दान, मिलेगा वरदान

304

-उपहार ऐसी चीज है कि हम जब भी किसी के घर मिलने के लिये या फिर किसी समारोह में जाते हैं तो लेकर जाते हैं। किसी खुशी के मौके पर हम सामान्यतः उपहार या भेंट लेकर जाते हैं, लेकिन क्या आपको पता है ज्योतिष के अनुसार ये उपहार हमारे लिये लेना या देना दोनों की नुकसान दायक हो सकता है। कैसे आइए जानते हैं-

दरअसल, ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जातक की कुंडली इस बात की सूचना अवश्य देती है कि अमुक व्यक्ति को अमुक संग्रह से संबंधित वस्तु लेनी चाहिए या देनी चाहिए। ज्योतिष में हर ग्रह का उससे संबंधित वस्तुओं का कारक निश्चित ग्रहों का होता है। वहीं कहा जाता है कि दान में अशुभ ग्रहों से संबंधित वस्तुओं का दिया जाये तो उसकी अशुभता व कुप्रभाव कम हो जाते हैं। इसलिये जब भी दान करें तो कुंडली में ग्रहों की स्थिति को देखते हुये ही दान करें।

सूर्य की कुंडली में स्थिति:

अगर आपकी कुंडली में सूर्य अच्छि स्थिति में हो तो तांबे से बनी वस्तु, माणिक्य, विज्ञान से संबंधित सामान आप भेंट में ले सकते हैं। लेकिन अगर सूर्य अच्छि स्थिति में नहीं हों या नीच हो तो सूर्य से संबंधित वस्तुओं का दान करना चाहिये।

चंद्रमा की कुंडली में स्थिति:

अगर आपकी कुंडली में चंद्रमा शुभ स्थान पर नहीं हैं या अनिष्ट स्थिति में बैठे हैं तो चांदी की बनी वस्तु, चावल, सीप, मोती, शंख, वाहन आदि चंद्रमा से संबंधित चीजें भेंट करना चाहिये। वहीं अगर चंद्रमा की शुभ स्थिति में ये चीजें दान में ले सकते हैं।

मंगल की कुंडली में स्थिति:

अगर कुंडली में मंगल अशुभ हैं तो, मिठाई का डिब्बा या फिर मीठी चीजों का दान करना या उपहार देना चाहिये। वहीं यदि शुभ हैं तो आप मिठाई भेंट में ले जरुर सकते हैं।

बुध की कुंडली में स्थिति:

loading...

जब किसी व्यक्ति की कुंडली में बुध अशुभ स्थिति में होते हैं तब उन्हें बुध से संबंधित वस्तुओं का दान करना चाहिये। जैसे- खिलैने, खेलकूद का सामान या कोई हरे रंग की वस्तु। इन चीजों के दान से व्यक्ति को बुध से मिलने वाले अशुभ परिणाम कम होते हैं। वहीं अगर बुध शुभ हैं तो ये चीजें आप उपहार में ले सकते हैं।

गुरु की स्थिति कुंडली में शुभ:

जब किसी व्यक्ति की कुंडली में गुरु अशुभ स्थिति में होते हैं तो उन्हें पीले वस्त्र, केसर या फिर गुरु से संबंधित वस्तुओं का दान करना चाहिये। वहीं यदि गुरु शुभ स्थिति में हैं तो धार्मिक पुस्तकें, सोने की वस्तु सहित गुरु की चीजों की भेंट लेना अच्छा माना जाता है।

शुक्र की कुंडली में शुभ स्थिति:

शुक्र का कुंडली में शुभ स्थिति में होने से सुगंधित द्रव्य, रेशमी वस्त्र, चार पहिया वाहन, सुख-सुविधा का सामान भेंट नहीं करनी चाहिये भेंट ले सकते हैं, परंतु अगर अशुभ स्थिति में हैं तो इन चीजों का दान करें।

शनि की कुंडली में शुभ स्थिति:

अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि शुभ स्थिति में होते हैं तो उस व्यक्ति को कभी शराब का दान या दावत नहीं देनी चाहिये। वरना आप बर्वाद हो जायेंगे।

राहु की कुंडली में शुभ स्थिति:

राहु का कुंडली में शुभ स्थिति में होने से व्यक्ति को कभी बिजली के उपकरण, मशीनें, कार्बन, दवाइयां या कोई राहु से संबंधित वस्तुओं को भेंट नहीं करना चाहिये। यदि आप राहु अशुभ स्थिति में है तो इन चीजों का दान बहुत लाभदायक रहेगा।

केतु की कुंडली में शुभ स्थिति:

कंबल, जूते, चप्पल, कुत्ता, चाकू, छुरी, मछली से बने व्यंजन आदि केतु की वस्तुएं हैं। अगर आपकी कुंडली में केतु की स्थिति अच्छी है तो इन चीजों का दान बिलकुल भी ना करें और अगर केतु की स्थिति अशुभ है तो इन चीजों का दान करें, लाभ होगा।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.