क्या सर्दी ब्लड शुगर लेवल बढ़ाती है? मधुमेह रोगियों को इन सुझावों का पालन करना चाहिए

0 77

मधुमेह एक पुरानी बीमारी है जिसके कारण शरीर में रक्त शर्करा का स्तर बहुत अधिक बढ़ने लगता है। मधुमेह को खत्म नहीं किया जा सकता है लेकिन इसे नियंत्रित किया जा सकता है। सर्दियों में अत्यधिक तापमान गर्मियों की तुलना में आपके शरीर की इंसुलिन बनाने और उपयोग करने की क्षमता दोनों को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। कई मधुमेह रोगी सर्दियों में उच्च रक्त शर्करा के स्तर का अनुभव करते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि ठंड के मौसम में आपकी शारीरिक गतिविधियां कम होती हैं और आप अधिक कैलोरी का सेवन करते हैं।

ऐसे में मधुमेह के मरीजों को मौसम बदलने पर अपना खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। अगर आपके घर में डायबिटीज का मरीज है तो सर्दियों के मौसम में उसका खास ख्याल रखना बेहद जरूरी है। आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिससे आप सर्दियों में अपने ब्लड शुगर लेवल को एकदम से बढ़ने से रोक सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में-

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं- सर्दी के मौसम में लोग बहुत बीमार हो जाते हैं जिससे तनाव बढ़ने लगता है और जब तनाव बढ़ता है तो ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। सर्दी के मौसम में जरूरी है कि आप अपने खान-पान पर विशेष ध्यान दें और दवाइयां समय पर लें। साथ ही बैक्टीरिया से बचने के लिए हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।

मेथी का पानी पिएं – भारतीय खाने में मेथी का ज्यादा मात्रा में इस्तेमाल होता है। मेथी भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। मेथी में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो मधुमेह रोगियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं हैं। मधुमेह रोगियों को रोजाना सुबह खाली पेट 2 चम्मच भीगे हुए मेथी दानों का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा आप इसका पाउडर बनाकर दूध या पानी के साथ इसका सेवन कर सकते हैं।

ब्लड शुगर लेवल चेक करते रहें- जब मौसम बदलता है तो आपके ब्लड ग्लूकोज लेवल में भी उतार-चढ़ाव होता है। ऐसे में जरूरी है कि आप समय-समय पर अपने ब्लड शुगर लेवल की जांच कराते रहें और डॉक्टर से संपर्क में रहें।

तनाव का प्रबंधन करें- तनाव से संबंधित हार्मोन जैसे कोर्टिसोल, ग्रोथ हार्मोन और एड्रेनालाईन को कम करने से रक्त शर्करा का स्तर कम हो सकता है। तनाव को कम करने के लिए, उन चीजों को करना महत्वपूर्ण है जो आपको आराम महसूस कराती हैं।

आंवला का करें सेवन :- आंवला में कई तरह के पोषक तत्व होते हैं। आंवला रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है और विटामिन सी में भी उच्च होता है। रोज सुबह 2 चम्मच आंवले के पेस्ट को पानी में मिलाकर पिएं। इससे सर्दियों में आपका ब्लड शुगर लेवल बिल्कुल भी नहीं बढ़ेगा।

हाथों को गर्म रखें- डायबिटीज के मरीजों को सर्दियों के मौसम में ब्लड शुगर लेवल में गड़बड़ी के कारण हमेशा ठंडे हाथों की समस्या का सामना करना पड़ता है. ऐसे में जरूरी है कि आप ग्लव्स पहनें और अपने हाथों को गर्म रखें। जब हाथ गर्म होते हैं तो रक्त ठीक से बहता है। इसके अलावा, अपने ब्लड शुगर लेवल की जांच करने से पहले अपने हाथों को गर्म कर लें।

पैरों का रखें खास ख्याल- सर्दियों के मौसम में रूखी त्वचा बहुत आम होती है और कई लोगों को इस दौरान पैरों के फटने की समस्या का भी सामना करना पड़ता है। लेकिन अगर यह सब डायबिटीज के मरीजों के साथ हो रहा है तो इससे आपके पैरों में घाव और इंफेक्शन हो सकता है। ऐसे में जरूरी है कि सर्दियों के मौसम में अपने पैरों का खास ख्याल रखा जाए। इस दौरान मोज़े और चप्पल पहनें, पैरों के मॉइश्चराइज़र का इस्तेमाल करें और खूब पानी पिएं। यदि आप घायल हो जाते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

विटामिन डी लें- विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत धूप है। कुछ अध्ययनों के अनुसार, इंसुलिन उत्पादन के लिए विटामिन डी बहुत महत्वपूर्ण है। हर दिन कम से कम 30 मिनट धूप में निकलना मधुमेह रोगियों सहित सभी के लिए फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा आप पनीर, दही और संतरे का जूस भी पी सकते हैं। इसमें विटामिन डी भी बहुत अधिक होता है।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply