बड़ी खबर : कोरोना वैक्सीन को लेकर डॉक्टर ने दी चेतावनी कहा इन चीज़ से दूर रहें

954

भारत समेत पूरी दुनिया कोरोनोवायरस वैक्सीन का इंतजार कर रही है। रूस का दावा है, उन्होंने कोरोनावायरस के लिए वैक्सीन बनाया है, लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन सहित कई देश दवा के बारे में सवाल उठा रहे हैं। भारत दवा बनाने के करीब है। दावा किया जा रहा है कि भारत को इस साल के अंत तक वैक्सीन मिल जाएगी। हालांकि, सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा है कि सितंबर तक कोरोनावायरस को खत्म कर दिया जाएगा। आइए जानते हैं कि विशेषज्ञ इस बारे में क्या कहते हैं। दिल्ली एम्स के डॉक्टर नीरज निश्चल कहते हैं, ‘सोशल मीडिया के किसी भी प्लेटफॉर्म की ख़बरों पर भरोसा न करें। अगर किसी को किसी भी जानकारी की आवश्यकता है, तो सरकारी पोर्टल पर जाएं।

एम्स, आईसीएमआर, स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर सही जानकारी उपलब्ध है। आप प्रसार भारती के किसी भी मंच पर विश्वसनीय जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। वायरस कब खत्म होगा इसकी किसी ने पूरी तरह से पुष्टि नहीं की है ‘। डॉ। नीरज निश्चल कहते हैं, ‘हर कोई दवा का इंतजार कर रहा है। अब दवा के आने के बाद आपको पता चलेगा कि यह कितना प्रभावी होगा। ऐसा नहीं है कि दवा आते ही वायरस गायब हो जाएगा। हम वैक्सीन से अपनी सुरक्षा कर सकते हैं, लेकिन वायरस को नहीं मार सकते।

loading...

doctor warns about Corona vaccine, stay away from these things वैक्सीन

इस बीमारी को वैक्सीन द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है ‘। नीरज निश्चल के अनुसार, ‘लोगों को वायरस से ठीक होने के बाद ही अस्पताल से छुट्टी दी जा रही है। गंभीर रूप से संक्रमित लोगों के फेफड़ों में संक्रमण के बारे में बहुत कम संदेह है। कई लोगों को ठीक होने के बाद भी कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ा है। ऐसे लोग कब तक ठीक हो जाएंगे, यह 6 महीने या साल भर बाद ही पता चलेगा। इसके अलावा, कई दिनों तक COVID वार्ड में रहने से मानसिक स्वास्थ्य भी प्रभावित हुआ, लोगों को इससे उबरने में समय लगेगा ’।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.