क्या आप को पता है मृत्यु के अंतिम समय दुर्योधन के 3 उंगलियां उठाने का रहस्य ?

936

महाभारत के युद्ध में महाबली भीम ने अपनी प्रतिज्ञा के अनुसार से दुर्योधन के जांघ पर वार करके उसे बुरी तरह से घायल कर दिया था। बेसुध होने पर भी दुर्योधन ने अपनी 3 उंगलियां उठाई हुई थी। भगवान श्रीकृष्ण समझ गए कि दुर्योधन क्या कहना चाहते है।तब श्रीकृष्ण दुर्योधन के समीप गए और बोले अगर तुम हस्तिनापुर के पास अपना किला बनाते तो नकुल अपने दिव्य घोड़ों से उसे तोड़ देता। अगर अश्वत्थामा को सेनापति बनाते तो युधिष्ठिर कर क्रोध से तुम्हारी तुम सेना नष्ट हो जाती। और यदि विदुर तुम्हारी ओर से युद्ध करते तो मैं स्वयं पांडवो के ओर से युद्ध करता।

Do you know the secret of raising 3 fingers of Duryodhan at the end of death

loading...

ऐसा आवश्यक नहीं कि हम जो भी कार्य करें उसमें पहली बार में ही हम सफल हो जाए। यदि कार्य में हम सफल हो जाते हैं तो अपने जीवन में आगे बढ़ जाते हैं और यदि हम असफल होते हैं तो उन कारणों को जानने का प्रयास करते हैं जिसके कारण हम असफल हुए। महाभारत युद्ध के अंत में महाभारत के युद्ध के अंत में जब दुर्योधन भीम से युद्ध में पराजित हो जाने के बाद अर्ध मूर्छित अवस्था में भूमि में लेटा हुआ अपनी तीन उंगली उठाए हुए था।

तभी भगवान कृष्ण की नजर दुर्योधन की उंगली पर गई उन्हें समझते देर नहीं लगी कि क्यों दुर्योधन ने अपने तीन उंगली उठाई हुई हैं। इसके पश्चात भगवान श्री कृष्ण दुर्योधन के निकट गए और उससे कहने लगे दुर्योधन यदि तुम सोचते हो कि तुम हस्तिनापुर के निकट किला बनवा देते तब शायद तुम विजयी हो जाते तो यह तुम्हारा भ्रम है। यदि ऐसा होता तो नकुल के पास दिव्य घोड़े है जिनसे वह तुम्हारा किले को तोड़ देता।

अर्थात तुम कुछ भी करते फिर भी तुम्हारी हार निश्चित थी क्योंकि तुमने असत्य और नीचता की पराकाष्ठा पार कर दी थी। इसलिए तुम्हारा अंत ऐसा ही होना था। यह सब सुनकर दुर्योधन ने अपनी उंगलियां नीचे कर ली।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.