वसंत पंचमी पर दुर्लभ संयोग में करें ये खास उपाय, मिलेगा ये फायदा

0 32

हिन्दू पंचांग के अनुसार वसंत पंचमी यह त्योहार हर साल माघ महीने में शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इस बार वसंत पंचमी 26 जनवरी गुरुवार को है। विद्या, ज्ञान, कला और संगीत की देवी माता सरस्वती की पूजा में वसंत पंचमी तिथि का विशेष महत्व है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार वसंत पंचमी के दिन देवी सरस्वती का जन्म हुआ था और इस तिथि के बाद से ही वसंत ऋतु की शुरुआत हो जाती है। वसंत ऋतु को सभी ऋतुओं का राजा कहा जाता है।

वसंत पंचमी शुभ योग 2023

इस बार वसंत पंचमी के दिन कई तरह के शुभ कार्य भी किए जा रहे हैं. वसंत पंचमी पर देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। इस दिन सरस्वती पूजन का शुभ मुहूर्त सुबह 7 बजकर 12 मिनट से 12 बजकर 33 मिनट तक रहेगा. इस बार वसंत पंचमी पर 4 तरह के दुर्लभ और शुभ योग पड़ने जा रहे हैं. 26 जनवरी को वसंत पंचमी के पावन पर्व पर शिव योग, सिद्ध योग, सर्वार्थ सिद्धि योग और रवि योग बन रहे हैं. वैदिक ज्योतिष के अनुसार वसंत पंचमी के दिन कुछ उपाय करने से ज्ञान, बुद्धि और बुद्धि में तीव्र वृद्धि होती है। आइए जानते हैं कि वसंत पंचमी के दिन कौन से उपाय किए जा सकते हैं।

वसंत पंचमी पर कार्य अवश्य करना चाहिए

वसंत पंचमी के दिन सभी को पीले वस्त्र धारण करने चाहिए और पूजा में देवी सरस्वती को पीले फूल अर्पित करने चाहिए।

जिन छात्रों का पढ़ाई में मन नहीं लगता है और परीक्षा में अच्छे परिणाम नहीं मिलते हैं, उन्हें वसंत पंचमी के दिन पूर्व, उत्तर या ईशान कोण में बैठकर अध्ययन करना चाहिए। इस दिशा में विद्यार्थियों का मन पढ़ाई में लगा रहता है।

इसके अलावा जब पढ़ाई में मन न लगे तो वसंत पंचमी के दिन ॐ अई सरस्वत्याई आं नामः मंत्र का जाप करना चाहिए।

वसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती की पूजा करें और पूजा स्थान पर किताब और कलम रखें। इस उपाय को करने से विद्यार्थियों के जीवन में मां सरस्वती की कृपा अवश्यम्भावी हो जाएगी।

वसंत पंचमी के दिन 2 से 10 वर्ष की कन्याओं को मीठे पीले चावल खिलाएं और पैर छूकर उनकी पूजा करें।

वसंत पंचमी पर जरूरतमंद बच्चों को कॉपी, किताबें और पढ़ाई से संबंधित सामान दान करें।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply