इन 4 बीमारियों के होने पर भूलकर भी ना पिए जूस… जा सकती है आपकी जान भी

515

आप लोग टाइटल पढ़कर हो सकता थोड़े कंफ्यूज हो गए हो लेकिन यह सही की हमारे शरीर की कुछ ऐसी परिस्थतिया होती है जिनमे हमें बहुत सारी चीजो से परहेज करना होता है | आमतोर जब हमें कोई बीमारी होती है तो डॉक्टर हमें हरी सब्जियां खाने की सलाह देते है और इसके अलावा वे फल और जूस लेने की सलाह भी देते है | बीमारी की कंडीशन में हम भी थोड़े जागृत हो जाते है और जूस और फल खाने के लिए लालायित होने लग जाते है | घरवाले भी हमें भर भर के जूस और फ्रूट्स खिलाने के पीछे पड़ जाते है लेकिन जरा ठहर जाओ मेरे दोस्त… पहले एक बार हमारे द्वारा जी जा रही जानकारी तो पढ़ लो… फिर ना कहना की आपने बताया नहीं था |

बीमारी और उनसे संबंधति जूस और फल की सावधानियां

दमे की बीमारी में जूस

आपको दमा की बीमारी है तो भूलकर भी पपीता और चुकंदर का जूस नहीं पीना चाहिए और घी और मक्खन से दूर ही रहे तो अच्छा है | दमा के मरीजो के लिए अदरक, लौकी और गाजर के जूस अच्छे माने जाते है |

लो ब्लड प्रेशर में जूस

ब्लड प्रेशर कम होने पर आपके शरीर में सुगर और ग्लूकोस की कमी हो जाती है | ऐसे में अगर आप खट्टे फलो के जूस पीते है तो आपको अधिक नुकसान हो सकता है | आप गन्ने का जूस ले उससे आपको फायदा होगा |

पथरी की बीमारी में जूस

अगर आपको पथरी की बीमारी हो गयी है तो भूलकर भी हरी सब्जियों के जूस नहीं पीने चाहिए क्योकि ऐसा करने से पथरी और अधिक बढ़ने लग जाती है | आप चाहो तो सेब का जूस पी सकते है |

पीलिया की बीमारी में जूस

इस बीमारी में भूलकर भी पपीता या सब्जियों से बने हुए जूस नहीं पीने चाहिए, अगर आप पीना ही चाहते है तो अंगूर और मोसम्बी का जूस पि सकते है |

तो ये थी कुछ सावधानियां जो बीमारी की स्थिति में आपको रखनी चाहिए |

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.