अपने दोस्त से शादी करने के लिए ऑपरेशन से औरत बन गया था…वो दर्द नहीं सहा जा रहा था तो लगा ली फांसी

2,397

Crime News: कथित आधुनिकता के चलते पूरी दुनियां से लोगों द्वारा सेक्सचेंज कराने की खबरें आ रही हैं। लेकिन प्रकृति द्वारा दिए गए शरीर से छेड़छाड़ करना कितना गलत है, इसका अंदाजा इंदौर की पलक की खुदकशी से लगाया जा सरता है। पलक पहले हरीश नामक युवक था जो आठ साल पहले अपने दोस्त से शादी करने के लिए ऑपरेशन से युवती बन गया था।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

loading...

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

लेकिन युवक से युवती बनने के बाद अवसाद वह अवसाद से घिर गया। खबर है कि, उसे कुछ शारीरिक समस्याऐं भी होने लगीं थी। इलाज भी कराया, लेकिन न शारीरिक समस्याऐं दूर हो सकीं और न अवसाद। इन सब से उसे बहुत दर्द हो रहा था उससे ये दर्द सहा नही जा रहा था।

खबर है कि, इन हालातों में पलक ने कथित तौर पर खुदकशी कर ली। पुलिस उप निरीक्षक सुरेश बुनकर ने रविवार को बताया कि मृतक की पहचान पलक (26) के रूप में हुई है। उसने शनिवार रात चंदन नगर क्षेत्र में अपने घर में कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

उन्होंने बताया कि पलक पिछले आठ साल से अपने एक पुरुष साथी के संग रह रही थी। पलक की लिंग परिवर्तन सर्जरी के बाद इस जोड़े ने कुछ समय पहले एक मंदिर में शादी भी कर ली थी। हालांकि बुनकर ने बताया कि पुलिस को मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। लेकिन मामले की शुरुआती जांच से पता चला है कि लिंग परिवर्तन ऑपरेशन के बाद से पलक को शारीरिक समस्याएं हो रही थीं।

उन्होंने बताया कि, ‘इलाज और सुधारात्मक सर्जरी के बावजूद शारीरिक समस्याओं का निदान नहीं होने से पलक पिछले कई दिन से अवसाद में चल रही थी। पहली नजर में यही लगता है कि उसने अवसाद से तंग आकर जान देने का कदम उठाया’।

बुनकर ने बताया कि पलक के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय भेजा गया है। मामले में हालांकि अभी प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी है। लेकिन उसकी मौत के हालात की सभी कोणों से विस्तृत जांच की जा रही है।

अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.