सावधान! अकेले खाना खाने से बढ़ सकता है ये जानलेवा रोग

252

लाइफस्टाइल : अकेला भोजन करना किसी को पसंद नहीं होता है। लेकिन कभी मजबूरी और कभी बिजी लाइफस्टाइल के चलते लोगों को मजबूरन अकेले में भोजन करना पड़ता है। अगर आपको लगता है इस चीज से सिर्फ ये नुकसान होता है कि आप अपने परिवार के साथ बैठ कर खाना नहीं खाते हैं तो शायद ये आपकी गलतफहमी है। आपको बता दें कि अकेले खाना खाने से कई स्वास्थ्य बीमारियां भी होती है।

आपको बता दें कि अकेले खाना खाने वाले लोगों को संयुक्त परिवार के साथ खाना खाने वाले लोगों की तुलना में मोटापा का खतरा ज्यादा रहता है। आपकी अकेले खाना खाने की आदत आपको मोटा बना सकती है। ये हैरान कर देने वाला खुलासा हाल ही में हुए एक अध्ययन की रिपोर्ट में हुआ है। रिपोर्ट में ये दावा किया गया है कि अकेले खाना खाने वाले लोगों में सबके साथ खाना खाने वालों की तुलना में मोटे होने के 45 फीसदी चांस बढ़ जाते हैं।

loading...

यह अध्ययन 7,725 युवाओं पर किया गया है। जिसमें पुरुष और महिला दोनों को शामिल किया गया है। लेकिन महिलाओं के मुकाबले इसका ज्यादा असर पुरुषों पर देखा गया। यह अध्ययन साउथ कोरिया में स्थित डोंगु यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने किया है। रिसर्च में कहा गया है कि ना सिर्फ मोटापा बल्कि अकेले खाना खाने से दिल से जुड़ी बीमारी के भी होने का खतरा रहता है। दिन में 2 बार से ज्यादा अकेले खाना खाने से हमें कई तरह की बीमारियों का खतरा रहता है। जिसमें मोटापा प्रमुख है। इसके अलावा मेटाबोलिक सिंड्रोम, हाई ब्लड प्रेशर और डिप्रेशन का खतरा भी समान रहता है।

मोटापा कम करने के उपाय

  • हर रोज सुबह-सुबह एक गिलास ठंडे पानी में दो चम्मच शहद घोलकर मिला लीजिए। इस घोल को पीने से शरीर से वसा की मात्रा कम होती है।
  • खाने में गेहूं के आटे की चपाती बंद करके जौ और चने के आटे की चपाती लेना शुरू करें। जौ और चने में कार्बोहाइड्रेट पदार्थ होते हैं जो आसानी से पच जाते हैं।
  • नीबूं का रस गुनगुने पानी में निचोड़कर पीयें, इससे भोजन अच्छे से पचता है और शरीर भी हल्का लगता है। सर्दियों में नींबू वाली चाय पिएं तो इससे पेट में गैस नहीं बनती।
  • मौसमी हरी सब्जियों का प्रयोग ज्‍यादा मात्रा में करें। मौसमी सब्जियां जैसे – मेथी, पालक, बथुआ, चौलाईसाग हैं। इनमें कैल्शियम अधिक मात्रा में होता है।
  • कम उर्जा वाले वयंजनों का सेवन करें। जैसे भूने चने, मूंग दाल, दलिया आदि का सेवन  करें। इनमें फैट कम होता है।
  • सुबह नाश्ते में अंकुरित अनाज लीजिए। मूंग, चना और सोयाबीन को अंकुरित करके खाने से से उनमें मौजूद पोषक तत्‍वों की मात्रा दोगुनी हो जाती है।
  • यदि आप मांसाहारी हैं तो तला हुआ मांस खाएं जिसमें तेल और घी जैसे चिकनाईयुक्‍त पदार्थ कम मात्रा में हो। रेड मीट बिलकुल न खायें।
  • अधिक चिकनाईयुक्त दूध, बटर तथा इससे बने पनीर का सेवन बंद कर दें। क्‍योंकि इनमें वसा ज्‍यादा मात्रा में होता है जो कि मोटापे का कारण बन सकता है।
  • फास्ट फूड, जंक फूड, कचौरी, समोसे, पिज्जा बर्गर न खाएं। कोल्ड ड्रिंक न पिएं, क्योंकि कोल्डा ड्रिंक की 500 मिलीलीटर मात्रा में 20 चम्मच शुगर होती है जिससे मोटापा बढ़ता है।
  • सोयाबीन का सेवन कीजिए। इसमें ज्‍यादा मात्रा में प्रोटीन होता है और इसमें पाया जाने वाला आइसोफ्लेवंस नामक प्रोटीन शरीर से चर्बी को कम करता है।
  • दही का सेवन करने से शरीर की फालतू चर्बी घटती है। मटठे का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करें।
  • दो बडे चम्मच मूली के रस शहद में मिलाकर बराबर मात्रा में पानी के साथ पिएं, ऐसा करने से माह के बाद मोटापा कम होने लगेगा।
  • व्‍यायाम को अपनी दिनचर्या में शामिल कीजिए। व्‍यायाम जैसे – साइकलिंग, जॉगिंग, सीढी़ चढ़ना-उतरना, रस्सी कूदना, टहलना, घूमना इस प्रकार के व्यायाम नियमित रूप से करने से वजन घटाया जा सकता है।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.