बसंत पंचमी 2022: वसंत पंचमी व्रत के दौरान भूलकर भी न करें ये काम, जानिए क्या हैं जरूरी बातें

0 6,431

Basant Panchami 2022: नई दिल्ली: वसंत पंचमी (Basant Panchami 2022) माघ महीने में शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाई जाती है । बसंत पंचमी 2022 का पर्व 5 फरवरी को मनाया जाएगा । एक धार्मिक मान्यता है कि इस दिन देवी सरस्वती का जन्म हुआ था, इसलिए वसंत पंचमी देवी सरस्वती को समर्पित है । इस बीच अगर आप इस वसंत पंचमी का व्रत कर रहे हैं तो कोई गलती न करें।

वसंत पंचमी व्रत में कभी भी गलती से न करें ऐसा

  1. मान्यता है कि इस दिन पीले वस्त्र धारण करने चाहिए. इस दिन काला वस्त्र न पहनें। काला रंग नकारात्मकता को दर्शाता है।

  2. 2022 की वसंत पंचमी के दिन यदि आप पूरे दिन उपवास नहीं रख सकते हैं तो कम से कम पूजा तक उपवास करें। खा-पीकर पूजा न करें। यदि पूरे दिन उपवास करना संभव हो तो बेहतर है।

  3. पूजा के बाद प्रसाद खाकर व्रत तोड़ें। व्रत के समय केवल सात्विक भोजन करना चाहिए। इस दिन मसालेदार भोजन या प्याज-लहसुन से बनी चीजें न खाएं।

  4. वसंत पंचमी के दिन घर के किसी भी सदस्य को मांस और शराब का सेवन नहीं करना चाहिए. इस दिन साफ-सफाई और पवित्रता का पूरा ध्यान रखें।

  5. किसी से बहस न करें। इस दिन किसी को दुख या निंदा न करें। शांति से देवी सरस्वती का ध्यान करें।

  6. किसी गरीब, जरूरतमंद या असहाय व्यक्ति को परेशान न करें। बड़ों की सेवा करें और उनका आशीर्वाद लें।

  7. मान्यता है कि वसंत पंचमी के दिन एक बार मां सरस्वती जीभ पर आती हैं। इसलिए उस दिन सभी चीजों को अलविदा कह दें। इस दिन कुछ भी बुरा न कहें, अगर कही गई बात सच हो गई तो बाद में पछताना पड़ सकता है।

बसंत पंचमी 2022 पर करें ये काम

  1. छात्रों को ‘ओम आए ह्रीं क्लिं सरस्वती सरस्वती बुद्धजनन्याय स्वाः’ मंत्र का 108 बार जाप करना होगा। इससे उनकी मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

  2. ऐसा माना जाता है कि आपको सुबह की शुरुआत अपनी हथेलियों को देखकर करनी चाहिए। अपने हाथ की हथेली को देखें, माँ सरस्वती की छवि को देखें और उनका अभिवादन करें।

  3. यदि बच्चे को सुन्नता और कांपने की समस्या हो तो वसंत पंचमी के दिन बांसुरी के छेद में शहद भरकर बांसुरी के छेद को मोम से बंद कर दें। फिर बांसुरी को जमीन में गाड़ दें।

  4. विद्यार्थियों को जीभ को तालू में रखना चाहिए और माता के बीज मंत्र का जाप करना चाहिए। हो सके तो बसंत पंचमी के दिन से ही दैनिक अभ्यास की शुरुआत करना लाभकारी होता है।

अस्वीकरण: यहां दी गई जानकारी केवल अनुमानों और सूचनाओं पर आधारित है।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply