एसिडिटी के लिए आयुर्वेद चिकित्सा 19 उपाय – जो बहुत कम लोगो को पता है

955

1) अनानास के टुकड़े पर चीनी और काली मिर्च मिलाकर खाने से एसिडिटी दूर होती है।
2) सफेद प्याज के रस में चीनी मिलाकर पीने से एसिडिटी दूर होती है।
3) सफेद प्याज को पीसी हुई चीनी और दही में मिलाकर खाया जाता है।
4) एसिडिटी को दूर करने के लिए एक चम्मच तिल का रस, एक चम्मच काले अंगूर और आधा चम्मच शहद को मिला लें।

दसवीं पास लोगों के लिए इस विभाग में मिल रही है बम्पर रेलवे नौकरियां
दिल्ली के इस बड़े हॉस्पिटल में निकली है जूनियर असिस्टेंट के पदों पर नौकरियां – अभी देखें
loading...
ITI, 8th, 10th युवाओं के लिये सुनहरा अवसर नवल शिप रिपेयर भर्तियाँ, जल्दी करें अभी देखें जानकारी 
ग्राहक डाक सेवा नौकरियां 2019: 10 वीं पास 3650 जीडीएस पदों के लिए करें ऑनलाइन

This enchanting powder is 100 percent cure for constipation and gas, take only one teaspoon daily
5) इलायची, चीनी और खीरे की चटनी खाने से एसिडिटी दूर होती है।
6) कद्दू के रस में चीनी पीने से एसिडिटी को कम करने में मदद मिलती है।
7) शक्कर, चाक चीनी और छाल पाउडर का सेवन करने से मुहांसे खत्म हो जाते हैं।
8) एक नींबू के रस में आधा लीटर पानी डालें, आधा चम्मच चीनी, दोपहर का भोजन के साथ लें ।
9) रात में भोजन से आधे घंटे पहले, अम्लता फैल जाती है। इसलिए हल्का खाना खाएं।
10) चीनी पाउडर के साथ धनिया का सक्रियण अम्लता को कम करता है। यदि ठंड के बाद छाती में सूजन होती है, तो यह भी गायब हो जाती है।

Know why and when gas is produced in a person's stomach
11) गाजर का जूस पीने से एसिडिटी दूर होती है।
12) 1 से 2 ग्राम दूध और घी में मिलाया हुआ 3-5 ग्राम काली मिर्च मिलाएं और खाएं।
13) 3 से 4 ग्राम बेकिंग सोडा को धनजीरा पाउडर या सुदर्शन चूर्ण में मिलाकर शाम को खाने से एसिडिटी मिटती है।
14) तुलसी के पत्तों को दही या मट्ठे के साथ लेने से एसिडिटी दूर होती है।
15) नींबू पानी और इमली को भूनकर खाने से एसिडिटी दूर होती है।

Know why and when gas is produced in a person's stomach
16) धनिया और गन्ने के पाउडर को पानी के साथ लेने से एसिडिटी दूर होती है।
17) मूली और चीनी खाने से मुहांसे खत्म हो जाते हैं। क्योंकि अगर पेट ठीक होगा तो कभी नहीं होंगे ।
18) एसिडिटी से राहत पाने के लिए सीज़निंग पाउडर को शहद के साथ लिया जाता है।
19) संतरे के रस में थोड़ा सा भुना जीरा और नारियल का रस अम्लता का एक बड़ा कारण प्रदान करता है। इस उपाय से भी एसिडिटी में आराम  आता है ।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.