Anemia in women: जब शरीर में यह लक्षण दिखाई दे, खून की कमी हो जाए तो इससे छुटकारा पाने के लिए खाएं ये चीजें।

157

महिला एनीमिया रोकथाम युक्तियाँ: भारतीय महिलाओं में एनीमिया बढ़ रहा है। एनीमिया के कारणों में से एक इस बीमारी के बारे में जागरूकता की कमी है। एक सर्वेक्षण के अनुसार, भारत में 58.6% बच्चे, 53.2% लड़कियां और 50.4% गर्भवती महिलाएं एनीमिया से पीड़ित हैं। एनीमिया एक ऐसी स्थिति है जिसमें लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण कम हो जाता है या शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर कम हो जाता है। इस रक्त में ऑक्सीजन की पहुंच की क्षमता को भी प्रभावित करता है महिलाओं को प्रति डेसीलीटर 12 ग्राम हीमोग्लोबिन की आवश्यकता होती है जबकि पुरुषों को 13 ग्राम प्रति डेसीलीटर की आवश्यकता होती है। तो आइए हम आपको बताते हैं कि महिलाओं में एनीमिया के क्या लक्षण होते हैं और आप उन्हें कैसे दूर कर सकते हैं।

एनीमिया के लक्षण: अगर आपके शरीर में खून की कमी है तो आपको ज्यादा थकान महसूस हो सकती है। शरीर में ऊर्जा की कमी, असामान्य दिल की धड़कन, सांस की तकलीफ, सिरदर्द, ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई, चक्कर आना, त्वचा का पीला पड़ना, पैरों में झुनझुनी जैसे लक्षण हो सकते हैं। मल में जठरशोथ, बवासीर, रक्त देखा जा सकता है। अगर आपको भी ये लक्षण दिखें तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें।

महिला एनीमिया से बचाव के उपाय

ये हैं युवा लड़कियों में एनीमिया के कारण: युवा लड़कों की तुलना में कम उम्र की लड़कियों में एनीमिया होने का खतरा अधिक होता है। लड़कियों में एनीमिया होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि पीरियड्स के कारण ज्यादा ब्लीडिंग, रेड मीट का कम सेवन, खराब डाइट। आज की लड़कियां आयरन से भरपूर खाद्य पदार्थ जैसे मांस, अंडे, अनाज आदि का कम सेवन करती हैं। इन सब कारणों से लड़कियों के शरीर में खून की कमी हो सकती है।

इन खाद्य पदार्थों से करें एनीमिया का इलाजएनीमिया को दूर करने के लिए लड़कियां अपने आहार में आयरन युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकती हैं। आप ब्रेड और पास्ता में चिकन पा सकते हैं, मछली, अनाज, सूखे मेवे, खुबानी, किशमिश, प्रून, पत्तेदार साग में पालक, कोलार्ड साग, साबुत अनाज में ब्राउन राइस, गेहूं के बीज, चोकर मफिन, बीन्स, मटर, नट्स और चीजें। जैसे अंडे खा सकते हैं। इसके अलावा आप कुछ और चीजों का भी सेवन कर सकते हैं। जैसे की

महिला एनीमिया से बचाव के उपाय
महिला एनीमिया से बचाव के उपाय

टमाटर: आप टमाटर खा सकते हैं. इससे शरीर में खून की मात्रा बढ़ जाती है। टमाटर के नियमित सेवन से पाचन क्रिया भी बेहतर होती है। टमाटर त्वचा को चमकदार बनाने में भी मदद करता है। इसका सेवन आप सलाद के रूप में कर सकते हैं। टमाटर को सलाद के रूप में खाने से आपको अधिक लाभ मिलेगा। लेकिन अगर आपको किडनी की समस्या है तो इसका सेवन न करें।

किशमिश: आप किशमिश का सेवन कर सकते हैं। 40 ग्राम किशमिश को गर्म पानी में धो लें। फिर इसे 250 मिलीलीटर दूध में मिलाकर उबाल लें। इसे दूध में मिलाकर पीएं। आप किशमिश को ऐसे भी खा सकते हैं. इसके सेवन से आपकी शारीरिक कमजोरी और थकान भी दूर होगी।

महिला एनीमिया से बचाव के उपाय

अभिभावक: एनीमिया को दूर करने के लिए आप पालक का सेवन कर सकते हैं। इसमें आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। पालक का जूस नियमित रूप से पीने से एनीमिया और मानसिक तनाव जैसी समस्याएं भी दूर होती हैं। इसके सेवन से आपकी त्वचा में भी निखार आता है।

केला: केला खा सकते हैं। केला पोटेशियम से भरपूर होता है। इसके सेवन से शरीर को ऊर्जा मिलती है और वजन बढ़ाने में भी मदद मिलती है। आप नियमित रूप से 2 केले का सेवन कर सकते हैं। इससे आपके शरीर को एनर्जी मिलेगी और त्वचा में भी निखार आएगा।

अमला: खून की मात्रा बढ़ाने के लिए आप आंवले का सेवन भी कर सकते हैं। इसमें एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन-सी और एंटी-इंफ्लेमेटरी पोषक तत्व होते हैं। ये पोषक तत्व बालों और शरीर को जवां बनाए रखने में मदद करते हैं। इसके सेवन से त्वचा भी टाइट रहती है। आप रोजाना आंवला मुरब्बा का सेवन कर सकते हैं।

अंजीर: आप अंजीर खा सकते हैं। यह फाइबर, विटामिन और पोटेशियम से भरपूर होता है। रोजाना एक कप अंजीर खाने से आपके शरीर को 240 मिलीग्राम कैल्शियम मिलता है। खाली पेट इसका सेवन करने से कब्ज, पाचन संबंधी समस्याएं भी दूर होती हैं।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.