चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद अब इन सभी कांग्रेस नेताओं के खिलाफ दर्ज सभी पुराने मामले भी चर्चा में

1,757

नई दिल्ली :- कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री रहे पी. चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद अब कांग्रेस नेताओं के खिलाफ दर्ज सभी पुराने मामले चर्चा में आ गए हैं। कांग्रेस भले ही केंद्र सरकार की इस लोकतंत्र की हत्या बता रही है लेकिन यह भी सच है कि अगर कार्रवाई हो जाए तो कांग्रेस पार्टी के बड़े नेताओं से खाली होने की नौबत आ जाएगी। कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी हों या पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी अथवा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत या अहमद पटेल, सबके सब किसी ना किसी मामले में बेल (जमानत) पर हैं।

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

कांग्रेस में भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरने वाले पी.चिदंबरम अकेले नेता नहीं हैं। दिल्ली से लेकर हिमाचल प्रदेश, राजस्थान और गुजरात से लेकर महाराष्ट्र तक के बड़े कांग्रेस नेता सीबीआई, इनकम टैक्स और ईडी जैसी एजेंसियों के निशाने पर हैं। अब यह भी माना जा रहा है कि पी.चिदंबरम के बाद अब केंद्रीय जांच एजेंसियां भ्रष्टाचार में फंसे अन्य कांग्रेस नेताओं पर भी शिकंजा कस सकती हैं। इस आशंका से कांग्रेस के कई नेता सहमे हुए हैं। अगर केंद्रीय जांच एजेंसियों ने एक साथ सचमुच कांग्रेस के सभी आरोपी नेताओं पर कार्रवाई कर दी तो कांग्रेस में सन्नाटा छा जाएगा।

सोनिया गांधी व राहुल गांधी :-

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

नेशनल हेराल्ड केस में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उनके बेटे राहुल गांधी और अन्य कांग्रेस नेता फंसे हैं। आरोप है कि कांग्रेस के पैसे से 1938 में एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड नाम की कंपनी खड़ी की गई, जो नेशनल हेराल्ड, नवजीवन और क़ौमी आवाज नामक तीन अखबारों का संचालन करती थी। एक अप्रैल 2008 को सभी अखबार बंद हो गए। इसके बाद कांग्रेस ने 26 फरवरी 2011 को इसकी 90 करोड़ रुपये की देनदारियों को अपने जिम्मे ले लिया था। फिर 5 लाख रुपये से यंग इंडियन कंपनी बनाई गई,

sonia-gandhis-special-leader-joins-bjp

जिसमें सोनिया गांधी और राहुल गांधी की 38-38 प्रतिशत हिस्सेदारी है। बाद में घालमेल कर यंग इंडियन के कब्जे में एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड नाम की कंपनी को कर दिया गया। फिर कांग्रेस पार्टी ने 90 करोड़ का लोन भी माफ कर दिया। भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी का आरोप है कि यह सब दिल्ली के बहादुर शाह जफर मार्ग पर स्थित हेराल्ड हाउस की 16 सौ करोड़ रुपए की बिल्डिंग पर कब्जा करने के लिए किया गया।

अहमद पटेल और रतुल पुरी :-

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

अगस्ता वेस्टलैंड वीआइपी हेलीकॉप्टर खरीद घोटाला 2013 में सामने आया। कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल पर इतालवी चॉपर कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड से कमीशन लेने के आरोपों की सीबीआई आदि केंद्रीय एजेंसियां जांच कर रही हैं। इस मामले में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी भी फंसे हैं। अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी से 36 अरब रुपए में 12 वीआईपी हेलिकॉप्टर ख़रीदे जाने थे। भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया इस वीआईपी चॉपर खरीद के पीछे अहम भूमिका निभा रही थीं।

जगदीश टाइटलर :-

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय जगदीश टाइटलर भी भ्रष्टाचार के मामले में फंसे हैं। मामला वर्ष 2009 का है। टाइटलर पर आरोप है कि उन्होंने बिजनेसमैन अभिषेक वर्मा के साथ मिलकर तत्कालीन गृह राज्यमंत्री अजय माकन के फर्जी लेटर हेड का इस्तेमाल कर तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह को पत्र लिखकर एक चीनी टेलीकॉम कंपनी के अफसरों को वीजा के नियमों में छूट देने की सिफारिश की थी। जगदीश टाइटलर और अभिषेक वर्मा के खिलाफ फर्जीवाड़ा, धोखाधड़ी और आपराधिक षड्यंत्र सहित भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धाराओं में आरोप तय हो चुके हैं।

loading...

अशोक गहलोत :-

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ मामला 2010 से लेकर 2013 तक एनआरएचएम के तहत एंबुलेंस खरीदने में हुई धांधली का है। एंबुलेंस खरीदने के लिए जो टेंडर जारी किया गया, उसमें गड़बड़ी की गई थी। वसुंधरा राजे की भाजपा सरकार ने मामला सीआईडी को सौंप दिया गया था। इस मामले में 31 जुलाई 2014 को जयपुर के अशोक नगर थाना में पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी चिदम्बरम के पुत्र कार्ति चिदम्बरम, अशोक गहलोत, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री एए खान, श्वेता मंगल, शफी माथेर और निदेशक एन आर एच एम के विरूद्ध मामला दर्ज किया गया था। प्रवर्तन निदेशालय अब तक 12 करोड़ की संपत्ति जब्त कर चुका है।

डीके शिवकुमार

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

कर्नाटक में कांग्रेस के दिग्गज नेता डीके शिवकुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति दर्ज करने का मामला चल रहा है। 2017 में आयकर विभाग ने डीके शिवकुमार के 64 ठिकानों पर जबर्दस्त छापेमारी की थी। उस दौरान डीके शिवकुमार और अन्य कांग्रेस नेताओं ने राजनीतिक बदले की भावना से कार्रवाई करने का आरोप लगाया था।

वीरभद्र सिंह

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

हिमाचल के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह के खिलाफ भी केंद्रीय एजेंसियों की जांच चल रही है। सितंबर 2015 में उनकी बेटी की शादी के दिन सीबीआई ने छापेमारी कर खलबली मचा दी थी। वीरभद्र सिंह पर आय से अधिक संपत्ति जुटाने का आरोप है।

हरीश रावत

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

उत्तराखंड के दिग्गज कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी सीबीआई जांच की जद में हैं। उनके खिलाफ अप्रैल 2016 में सदन में फ्लोर टेस्ट से पहले बागी विधायकों को समर्थन के लिए घूस की पेशकश करने का आरोप है।

भूपिंदर सिंह हुड्डा

After the arrest of Chidambaram, now all the old cases registered against all these Congress leaders are also in the discussion

हरियाणा के पूर्व कांग्रेसी मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा के खिलाफ भी गुरुग्राम में जमीन सौदे के मामले में जांच चल रही है।

न्यूज सोर्स : आजतक।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.