आखिर क्या फायदा हुआ है भारत को लॉकडाउन से जब लॉकडाउन 2 .0 होने वाला है खत्म , पढ़ें पूरी ख़बर

243

इन दिनों कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए 3 मई तक देश भर में लॉकडाउन लागू है। अप्रैल का महीना खत्म हो चुका है,  अब लॉकडाउन खत्म होने में केवल 3 दिन बचे हैं।  लेकिन सवाल यह उठता है कि क्या भारत को लॉकडाउन से फायदा हुआ है? क्या भारत कोरोना को पूरी तरह ख़त्म कर पायेगा ?

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

After all, what has benefited India, read the whole news from the lockdown here लॉकडाउन

 लॉकडाउन का दिखा असर भारत में

चेन्नई में गणितीय विज्ञान के डेटा वैज्ञानिक सीताभरा सिन्हा ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा कि लॉकडाउन से देश को बहुत फायदा हुआ है। कोरोनावायरस संक्रमण की दर में काफी कमी आई है। बता दें कि सिन्हा कंप्यूटर मॉडलिंग के जरिए कोरोना के मरीजों का आकलन कर रहे हैं। गुरुवार तक, भारत में कोरोना रोगियों की संख्या 33 हजार को पार कर गई। अब तक एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 8 हजार से ज्यादा लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं।

loading...

भारत में गति में भी हुयी भरी कमी

कोरोना रोगियों की संख्या अब हर 15 दिनों में दोगुनी हो रही है। वे लॉकडाउन से पहले सिर्फ 3.4 दिनों में दोहरीकरण कर रहे थे। जबकि 27 अप्रैल तक यह गति 10.77 दिन थी। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, जम्मू और कश्मीर और ओडिशा में कोरोना संक्रमण की दर सबसे अधिक है। यहां 11-15 दिनों में, रोगियों की गति दोगुनी हो जाती है। जबकि तेलंगाना में, मरीजों के दोहरीकरण की दर 58 दिनों में सबसे कम है। इसके बाद केरल (37.5 दिन), उत्तराखंड (30.3 दिन) और हरियाणा (24.4 दिन) का स्थान है।

इन दोनों राज्यों में हुआ  सबसे ज्यादा  नुकसान

महाराष्ट्र और गुजरात में स्थिति सबसे खराब है। इन दोनों राज्यों में सबसे ज्यादा मरीज हैं।

महाराष्ट्र के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, रोगियों की संख्या 10,000 को पार कर गई है। जबकि 4082 मरीज गुजरात में हैं। देश के इन दोनों राज्यों में मरने वाले मरीजों की संख्या 60 प्रतिशत से अधिक है। महाराष्ट्र में अब तक 432 लोग मारे गए हैं। जबकि गुजरात में मरने वालों की संख्या 197 है।

बंगाल में स्थिति है ख़राब 

पश्चिम बंगाल की चिंता भी है। पहले यहां मरीजों की संख्या को लेकर अलग-अलग दावे किए जा रहे थे।

गुरुवार को यहां से 758 नए मामले आए। 23- 27 अप्रैल के बीच,

कोरोना के रोगियों की संख्या 7.13 दिनों में दोगुनी हो गई थी।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.