ज्योतिष भाव और कुंडली के अनुसार ये हो सकते हैं भारत अगले प्रधानमंत्री

327

चुनाव की उल्टी गिनती शुरु हो गई है. हर तरफ चर्चा यही है कि किसकी सरकार बनेगी और देश का अगला प्रधानमंत्री कौन होगा.

ज्योतिष गणना के अनुसार राहुल गांधी के इस साल प्रधानमंत्री बनने के प्रबल योग हैं.

राहुल गांधी जी का जन्म 19 जून 1970 को दोपहर 2:28 पर दिल्ली में हुआ था. ज्योतिषीय गणना के हिसाब से राहुल जी का जन्म तुला लग्न में हुआ था और लग्न में बृहस्पति था.

राहुल की राशि धनु है.

2019 के लोकसभा चुनाव राहु काल में घोषित किए गए हैं और राहु 7 मार्च 2019 को अगले 18 महीने के लिए अपनी उच्च राशि मिथुन में प्रवेश कर चुका है.

30 मार्च 2019 को राहुल गांधी की राशि का स्वामी गुरु उनकी राशि धनु में प्रवेश करेगा और 22 अप्रैल 2019 को यह पुनः वक्री होकर वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा.

loading...

गोचर की दृष्टि से राहु वर्तमान में राहुल की लग्न कुंडली के नवम भाव में और चंद्र कुंडली के हिसाब से दशम भाव (जिसे ज्योतिष में राज्य या सत्ता का भाव भी कहा जाता है)  उच्च की स्थिति में स्थित है.

सबसे लंबे समय तक रहेंगे प्रधानमंत्री

16 अप्रैल 2019 से राहुल गांधी की राहु की महादशा प्रारंभ होगी होगी और अगले 18 वर्षों तक राहुल गांधी राहु के प्रभाव में रहेंगे.

मिथुन राशि में उच्च का राहु अगले 18 महीनों तक रहेगा. ज्योतिष में राहु को राजनीति का कारक ग्रह माना जाता है और साथ में अप्रत्याशित परिणाम देने वाला भी.

ज्योतिषियों के अनुसार 16 अप्रैल 2019 के बाद राहुल भारतीय राजनीति में बेहद सशक्त और बेहद प्रभावशाली नेता के रूप में उभरेंगे और वो 2019 लोकसभा चुनाव में अप्रत्याशित सफलता भी प्राप्त कर सकते हैं.

राहुल की मासिक कुंडली में 1 अप्रैल से लेकर जून तक उनका समय काफी अच्छा रहेगा, उनके राजनीति के शिखर में पहुंचाएगा

उनकी कुंडली के अनुसार इस दौरान बड़ी संख्या में लोग उनके संपर्क में आएंगे. इस दौरान ग्रहों के योग उनके सभी शत्रुओं को पराजित कर देंगे.

राहुल गांधी की कुंडली में राहु का प्रभाव 18 वर्षों तक रहेगा. जिससे यह माना जा सकता है कि राहुल गांधी देश में लंबे समय तक प्रधानमंत्री के पद पर बने रहेंगे.

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Comments are closed.