आचार्य चाणक्य के अनुसार भूल से भी ना करिए ऐसी स्त्रियों से विवाह

357

आचार्य चाणक्य नीति : आज आपको बताएंगे की स्त्री कि आपने कुछ बातें जान ली तो आपने दुनिया जीत ली , आज इस आर्टिकल में यही बात करते हैं. और प्लीज इसे लास्ट तक पढ़िएगा और इसे शेयर भी करिएगा जिससे आपके कई मित्रों को भी मदद मिल सकती हैं!

सब तो  हम बात करते स्त्री के बारे में स्त्री के बारे में स्त्री एक ऐसा गहरा समंदर है जिसे आप अगर समझने जाओ तो वह बहुत ही गहरा समुद्र की तरह अर्थ गहरी खाई की तरह दिखाई देती है. आज तक उन्हें भगवान शंकर और भगवान विष्णु भी नहीं समझ पाए तो हम तो एक मामूली इंसान है स्त्री को आप अगर समझना चाहते हो तो यह आपकी मूर्खता है. क्योंकि अगर आप स्त्री को समझने जाओगे तो आप अपने ही अंदर अंदर गुम हो जाओगे क्योंकि स्त्री 2 गुना भूख सहन कर सकती है. चार गुना सहनशीलता से भरी हो सकती है और वह इसे बहुत अच्छी तरह इन मर्दों से छुपा लेती है!

loading...

आचार्य चाणक्य का कहना था कि अगर आप किसी से प्रेम करते हो तो वह गलत नहीं है. पर अगर आप किसी से प्रेम करते हो तो यह आपकी सबसे बड़ी मूर्खता होती है. क्योंकि अंधा प्रेम करने के बाद इंसान अंदर ही अंदर भूल भुलैया की तरह अंदर ही अंदर घूम जाता है. क्योंकि वह उसकी खुशी में ही अपनी खुशी को ढूंढता है और स्त्री चीज एक ऐसा सुखी जो सही मिले तो इंसान को अगर सही मिले तो उसे धरती पर ही सुख मिल जाता है अगर स्त्री चीज गलत हो या गलत संगत से मिली हो या उसके अंदर सिर्फ खूबसूरती हो और खूबसूरती के अलावा कोई गुण ना हो तो हमें धरती पर ही नर्क सा महसूस होता है. क्योंकि दोस्तों आपने सुना ही होगा घर लक्ष्मी चाहे तो इंसान को ऊपर लाती हैं और वह चाहे तो इंसान को नीचे भी धकेल सकती है!

अगर आप किसी लड़की से प्रेम करते हो और आप उसकी खूबसूरती को लेकर ही उससे प्रेम करते हो और अगर उसमें कोई गुण नहीं है तो यह आपकी सबसे बड़ी मूर्खता है कि आप सिर्फ उसकी खूबसूरती की पर मरते हो और उसे अपना लाइफ पार्टनर बनाना चाहते हो क्योंकि अगर उसने कोई गुड ही नहीं है तो उसे घर में लाने का क्या फायदा और कुछ लड़कियां ऐसी होती है जिनके पास खूबसूरती के अलावा कोई गुण भी होते हैं. और ऐसा जरूरी नहीं है दोस्तों की हर लड़की खूबसूरती के साथ गुणों से भरपूर भी हो क्योंकि दोस्तों अपना तो सुना ही होगा की जो खूबसूरत दिखती हो हमेशा दिमाग वाली ना हो वह चालाक भी हो सकती है!

आचार्य चाणक्य का कहना था कि स्त्री को धन और कहना बहुत ही पसंद होता है. इसलिए वह अमीर घराने के लड़कों को ज्यादातर पसंद करती है और उनकी तरह ज्यादातर आकर्षित होती है और स्त्री यहां ऐसी असंतुष्टि चीज है. जिसे संतुष्ट करने के लिए बड़ी बड़ी हस्तियां को धूल चटनी पड़ी पर स्त्री एक ऐसी चीज है. जिसको लेकर महाभारत भी हो चुका है तो हम तो एक मामूली इंसान हैं इसलिए आचार्य चाणक्य का कहना था कि ऐसी स्त्रियों से बचा जाए जो सिर्फ हमारी पर्सनेलिटी और सिर्फ और सिर्फ पैसों के लिए हमारे पीछे आती हो क्योंकि वह स्त्री हमें पूरी तरह खोखला कर देती है. और फिर हमें किसी मोड़ पर आकर छोड़कर किसी और के साथ चली जाती है!

आचार्य चाणक्य का कहना था कि जो स्त्री चीज हमारी खूबसूरती और हमारे धन-संपत्ति से आकर्षित होती है. वरना हमसे खुश होती है. ना संभोग से भी खुश होती है क्योंकि उनमें यह एक ऐसी चीज होती है. कि वह जिसे पसंद करती हैं उन्हीं के साथ पूर्ण तरह से संभोग करना पसंद करती है और हम अगर उनसे शादी करके उन्हें घर ले आए तो उनकी खूबसूरती हमें बर्बादी की ओर ले जाती है उनका कहना था कि शादी के बाद भी वह हमें इसी प्रकार धोखा देती हैं. और इंसान को धरती में ही नरक लोक का आवाज करवा देती है!

तो आपने पढ़ा स्त्री चीज क्या होती है तो आप इसे कभी समझने की कोशिश भी मत करना वरना आप अपने में ही उलझ कर रह जाओगे और देवों के देव भी नहीं समझ पाए तो हम मामूली इंसान हैं. और ऐसी स्त्रियों से बचा जाए जो हमारे धन हमारी पर्सनालिटी और हमारी संभोग प्रक्रिया से खुश होकर हमारी साथी बनना चाहती है. तो ऐसी स्त्रियों से बचा जाए जिससे आप अपने जीवन की महत्वपूर्ण शैली को बचा सकते हो और यह एक चीज ऐसी है जिसे हमें पूरी जिंदगी हमारे घर में रखना पड़ता है. और यह हमारे घर को और हमें सही ढंग से रखे तो हमें धरती पर स्वागत मिल जाता है!

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.