मध्य प्रदेश में बड़े स्तर पर चलेगा नसबंदी अभियान हर साल 7 लाख नसबंदी

0 600

मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार द्वारा नसबंदी कराने के फरमान को लेकर सियासत में गर्मी बढ़ गई है। बताते चलें कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस सरकार ने स्वास्थ्य कर्मचारियों को पुरुषों की नसबंदी करने का टारगेट दे दिया है। जिसको लेकर यह मुद्दा चर्चा का विषय बन गया है। बताते चलें कि मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को हर महीने 5 से 10 पुरुषों की नसबंदी ऑपरेशन करवाना अनिवार्य कर दिया है।

7 lakh sterilization campaign will be run every year in Madhya Pradeshइसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर कर्मचारी टारगेट पूरा कर पाते पाते हैं तो उनको नो-वर्क, नो-पे के आधार पर वेतन नहीं दिया जाएगा। वही, सरकार के इस फरमान पर सरकारी कर्मचारियों का कहना है कि वह प्रदेश भर के जिलों में घर-घर जाकर परिवार नियोजन बारे में लोगों को जागरूक कर सकते हैं, लेकिन किसी भी व्यक्ति की जबरन नसबंदी नहीं करा सकते हैं।

सरकारी नौकरियां ही नौकरियां : 

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन

1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 

टारगेट पूरा करने के मिले निर्देश

प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान समय में मध्य प्रदेश के अधिकांश जिलों में फर्टिलिटी दर तीन है। लेकिन कमलनाथ की सरकार ने इसे 2.1 करने का लक्ष्य रखा है। हालांकि फर्टिलिटी के इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए हर साल करीब 7 लाख नसबंदी की जानी हैं।

वहीं, पिछले साल में हुई नसबंदियों के रिकॉर्ड के बारे में बात करें तो यह आंकड़ा सिर्फ हजारों में ही रह गया था। जिसके चलते राज्य सरकार ने कर्मचारियों को परिवार नियोजन के अभियान के तहत इस टारगेट को पूरा करने का निर्देश दिया है। लेकिन सरकारी कर्मचारियों के द्वारा या टारगेट इतनी जल्दी पूरा करना आसान नहीं होगा।

👉 Important Link 👈
👉 Join Our Telegram Channel 👈
👉 Sarkari Yojana 👈

Leave a Reply