5 ऐसे घरेलु नुस्‍खे जो आपके पेट को साफ रखेगा और पेट की वजह से होने वाली बीमारियों से भी बचाएगा

2,275

आज के इस दौर में व्यस्त जीवन शैली और खान पान की गलत आदतों के कारण कई लोग पेट से सम्बंधित किसी ना किसी बीमारी से पीड़ित है। जैसे पेट में गैस बनना, एसिडिटी, पेट में दर्द, खट्टी डकार और जलन होना। इन सब के अतिरिक्त और एक परेशानी है जिससे कई लोग परेशान रहते है, वो है पेट सही से साफ़ ना होना जो कब्ज़ का रोग कहलाता है।

ITI, 8th, 10th युवाओं के लिये सुनहरा अवसर नवल शिप रिपेयर भर्तियाँ, जल्दी करें अभी देखें जानकारी 
ग्राहक डाक सेवा नौकरियां 2019: 10 वीं पास 3650 जीडीएस पदों के लिए करें ऑनलाइन
दसवीं पास लोगों के लिए इस विभाग में मिल रही है बम्पर रेलवे नौकरियां
loading...

ठीक से पेट साफ न होने से और हमेशा कब्ज की शिकायत से बवासीर जैसी समस्या भी थोड़े दिन बाद हो जाती है। गैस और कब्‍ज की वजह से चेहरे पर कील मुंहासे और फोड़े-फुंसी होने लगती है। तो आइये हम आप को 5 ऐसे नुस्खे बताते हैं जो आपके पेट को साफ रखेगा और पेट की वजह से होने वाली बीमारियों से भी बचाएगा।

5 household tips that will keep your stomach clean and protect you from stomach diseases

  1. एक गिलास गुनगुने दूध में 2 टेबल स्पून अरंडी का तेल यानि कैस्टर ऑयल डाल कर सुबह खाली पेट लें। आपका पेट साफ हो जायेगा।
  2. एक‍ गिलास पानी में नींबू का रस और शहद डालकर सुबह-सुबह खाली पेट पीएं, इसके बाद ही टॉयलेट जाएं। इससे आपका पेट एक ही बार में साफ हो जाएगा और बार-बार टॉयलेट जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

  1. एक से दो चम्‍मच देसी घी को एक ग्‍लास गर्म दूध में मिलाकर सोने से पहले पियें, यह कब्‍ज के लिए बहुत ही प्रभावी और बेहतरीन उपाय साबित हो सकता है।
  2. बेल का जूस बिना चीनी मिलाए सुबह खाली पेट लेना है लेकिन जूस पीने के बाद एक घंटे तक आपको कुछ नहीं खाना है।
  3. सुबह खाली पेट 3 से 4 गिलास पानी पिये उसके बाद एक घंटे वाकिंग करें। आप का पेट तो अच्छा साफ होगा साथ ही पेट की सारी बीमारियां आप से दूर भाग जायेंगी।

ऊपर बताए गए नुस्खे में कोई भी अपना सकते हैं और अपना पेट साफ रख सकते हैं।

सभी ख़बरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.