महाराष्ट्र में 41 फीसदी वृद्धि के बावजूद एसटी कर्मचारी आंदोलन पर अड़े

56

मुंबई, 25 नवंबर । महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को एसटी महामंडल के कर्मचारियों के वेतन में 41 फीसदी वृद्धि करने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार के इस निर्णय के बाद भी एसटी कर्मचारी अपनी मांग पर अड़े हैं और आंदोलन जारी रखा है। पूर्व मंत्री सदाभाउ खोत व भारतीय जनता पार्टी के विधायक गोपीचंद पडलकर ने कहा कि किसान हड़ताल वापस लेने के बारे में गुरुवार को दोपहर तक निर्णय ले सकते हैं।

परिवहन मंत्री अनिल परब ने एसटी कर्मचारियों की वेतन वृद्धि के बारे में राज्य के उपमुख्यमंत्री से चर्चा की , इसके बाद परिवहन मंत्री एच.एन. रिलायंस अस्पताल में जाकर वहां इलाज करवा रहे मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से इस निर्णय पर मंजूरी ली। इसके बाद परिवहन मंत्री ने कर्मचारियों के मूल वेतन में वृद्धि करने, कर्मचारियों को हर महीने 10 तारीख से पहले वेतन दिए जाने तथा उन्हें राज्य सरकार के जैसे ही भत्ता व प्रमोशन दिए जाने की घोषणा की।

loading...

अनिल परब ने कहा कि इस वेतन वृद्धि के बाद राज्य सरकार पर 660 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पडऩे वाला है। मौके पर उच्च शिक्षा मंत्री उदय सामंत, पूर्व मंत्री सदाभाऊ खोत, भाजपा विधायक गोपीचंद पडलकर उपस्थित थे।

राज्य सरकार के इस निर्णय के बाद सदाभाऊ खोत व गोपीचंद्र पडलकर ने कहा कि एसटी कर्मचारी राज्य सरकार के निर्णय पर विचार कर गुरुवार दोपहर तक अपना निर्णय लेंगे।

सरकारी नौकरियां यहाँ देख सकते हैं :-

सरकारी नौकरी करने के लिए बंपर मौका 8वीं 10वीं 12वीं पास कर सकते हैं आवेदन 1000 से भी ज्यादा रेलवे की सभी नौकरियों की सही जानकारी पाने के लिए यहाँ क्लिक करें 
अपनी मन पसंद ख़बरे मोबाइल में पढ़ने के लिए गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करे sabkuchgyan एंड्राइड ऐप- Download Now

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.